नई दिल्ली. 15 साल तक दिल्ली की मुख्यमंत्री रहीं शीला दीक्षित के निधन से देशभर में शोक की लहर है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस नेता राहुल गांधी समेत कई जाने-माने नेताओं ने उनके निधन पर शोक जताया है. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से लेकर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने भी शीला दीक्षित के निधन पर शोक संवेदना प्रकट की है. सक्रिय राजनीति में लगभग 4 दशक बिताने वाली शीला दीक्षित ने जहां मुख्यमंत्री पद पर रहते हुए भाजपा और कांग्रेस दोनों की अगुवाई वाली केंद्र सरकार के तहत काम किया, वहीं कुछ वर्षों तक पार्टी से दूर रहने के बाद एक बार फिर वह दिल्ली की सियासत में सक्रिय हो गई थीं. पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के कार्यकाल में उनके मंत्रिमंडल की सदस्य रहीं शीला, वर्तमान कांग्रेस पार्टी के मजबूत स्तंभों में से एक थीं.

1998 से 2013 के बीच 15 वर्षो तक दिल्ली की मुख्यमंत्री रहीं शीला दीक्षित के निधन पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी शोक प्रकट किया है. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शनिवार को दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के निधन पर शोक व्यक्त किया और कहा कि उनके कार्यकाल में राष्ट्रीय राजधानी में प्रभावी बदलाव हुआ. कोविंद ने दीक्षित के परिवार और समर्थकों के प्रति अपनी संवेदनाएं व्यक्त की. उन्होंने ट्वीट किया, “दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ राजनीतिक शख्सियत श्रीमती शीला दीक्षित के निधन के बारे में सुनकर दुख हुआ. मुख्यमंत्री के तौर पर उनके कार्यकाल के दौरान राजधानी में प्रभावी बदलाव हुआ जिसके लिये उन्हें याद किया जाएगा.”

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के निधन पर दुख जताते हुए शनिवार को कहा कि देश ने एक जननेता खो दिया है और उन्हें दिल्ली के विकास के लिए हमेशा याद किया जाएगा. सिंह ने अपने शोक संदेश में कहा, “मैं शीला दीक्षित जी के निधन के बारे में सुनकर स्तब्ध हूं. उनके निधन से देश ने एक समर्पित कांग्रेसी जननेता खो दिया है. ‘ उन्होंने कहा, “दिल्ली के लोग उनके मुख्यमंत्री के कार्यकाल के दौरान विकास में उनके योगदान को हमेशा याद करेंगे.’ दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष शीला दीक्षित का शनिवार को एक निजी अस्पताल में निधन हो गया. वह 81 साल की थीं.

शीला दीक्षित के निधन को लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने भी पूर्व मुख्यमंत्री के निधन पर अपनी शोक संवेदना प्रकट की है. सीएम अरविंद केजरीवाल ने शोक प्रकट करते हुए कहा कि शीला दीक्षित का निधन दिल्लीवासियों के लिए बहुत बड़ी क्षति है. दिल्ली के विकास में उनके योगदान को हमेशा याद किया जाएगा. ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे और परिजनों को धैर्य धारण करने की शक्ति दे. इधर, दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने भी दीक्षित के निधन पर शोक जताया है. उन्होंने अपने ट्वीट में कहा है कि शीला दीक्षित के निधन का समाचार मिलने से बहुत दुख पहुंचा है. ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे. दिल्ली आपको बहुत याद करेगा मैम…, आप हमारे जीवन में मां के समान थीं.