Live Updates

  • 10:40 PM IST

    वाजपेयी जी के सम्‍मान में मुंबई के छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस पर आज रात नहीं होगी रोशनी.

  • 10:36 PM IST

  • 10:35 PM IST

    वरिष्‍ठ कांग्रेस नेता सोनिया गांधी भी वाजपेयी जी के निवास स्‍थान पहुंची, जहां उनका पार्थिव शरीर रखा है. सोनिया ने कहा, वाजपेयी जी की मौत से पैदा हुई रिक्ति को भरना मुश्किल.

  • 10:31 PM IST

    पूर्व राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी भी वाजपेयी जी के निवास स्‍थान पहुंचे. फूल चढ़ाकर दी श्रद्धांजलि.

  • 10:26 PM IST

    पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने भी वाजपेयी निवास जाकर उन्‍हें श्रद्धांजलि दी.

  • 10:25 PM IST

    राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद पहुंचे वाजपेयी निवास, पार्थिव शरीर को दी श्रद्धांजलि

  • 9:19 PM IST

    अटलजी की मौत से लगता है मैंने अपना पिता खो दिया है. यह एक युग का अंत है.

  • 9:18 PM IST

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संबोधन: भारत ने अपना अनमोल रत्‍न खो दिया है. इस दुख को व्‍यक्‍त करने के लिए मेरे पास शब्‍द नहीं हैं.

  • 8:39 PM IST

    अटलजी को श्रद्धांजलि देने उनके निवास पर पहुंची पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी.

  • 8:37 PM IST

    बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह की प्रेस कॉन्‍फ्रेंस, कहा पार्टी मुख्‍यालय से शुक्रवार दोपहर 1 बजे शुरू होगी अंतिम यात्रा, 4 बजे स्‍मृति स्‍थल में होगी अंत्‍येष्टि.

नई दिल्ली: पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का निधन हो गया. वह दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में दो महीने से ज्यादा समय से भर्ती थे. बुधवार शाम को अचानक उनकी तबीयत नाजुक हो गई थी. बृहस्पतिवार शाम करीब 5.30 बजे एम्स की ओर से जारी एक रिलीज में वाजपेयी के निधन की बात कही गई. रिलीज के मुताबिक वाजपेयी का निधन करीब 5.20 में अंतिम सांस ली. Also Read - भाजपा के 'चाणक्य' गृहमंत्री अमित शाह को पीएम मोदी ने दी जन्मदिन की बधाई, कही ये बात

एम्स ने पहले बुधवार की रात और उसके बाद गुरुवार की सुबह बयान जारी कर कहा था कि उनकी हालत अब भी नाजुक है. बुधवार जैसी ही उनकी हालत गंभीर बनी हुई. उन्हें लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया है. इसके बाद से कई दूसरे नेता भी वाजपेयी का हालचाल लेने एम्स पहुंच रहे थे. Also Read - नवरात्रि 2020 पर बंगाल के लोगों से आज जुड़ेंगे PM मोदी, 'पुजोर शुभेच्छा' के जरिए जनता को देंगे खास संदेश

अटल बिहारी वाजपेयी को 11 जून को किडनी, छाती और यूरिन में इन्फेक्शन होने की शिकायत पर एम्स में भर्ती करवाया गया था. 93 साल के हो चुके वाजपेयी को 2009 में भी एक स्ट्रोक पड़ चुका है. बता दें कि ये चौथी बार है कि पीएम मोदी वाजपेयी से मिलने एम्स पहुंचे हैं. Also Read - Sarkari Naukri 2020: AIIMS Delhi Recruitment 2020: AIIMS में इन विभिन्न पदों पर निकली वैकेंसी, जल्द करें आवेदन, लाखों में मिलेगी सैलरी

एम्स के डॉयरेक्टर डॉ रणदीप गुलेरिया वाजपेयी की स्थिति पर लगातार नजर बनाए हुए थे. उनके नेतृत्व में टीम उनकी हर स्थिति की लगातार जांच कर रही थी. डॉ. गुलेरिया पिछले 30 साल से वाजपेयी का इलाज कर रहे थे. बता दें कि साल 2004 के बाद वाजपेयी की हालत लगातार बिगड़ती गई. इस दौरान उन्होंने राजनीतिक और सामाजिक जीवन से भी दूरी बना ली थी. वह घर पर ही रहने लगे. बाद के दिनों में वह सिर्फ कुछ लोग से ही मिलने लगे.