नई दिल्लीः पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह न 1984 के सिख दंगों को लेकर एक बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि अगर थोड़ा भी ध्यान दिया जाता तो इस नरसंहार को रोका जा सकता था. पूर्व पीएम ने यह बात पूर्व पीएम इंद्र कुमार गुजराल की 100 जयंति पर आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान कही.

दरअसल कल बुधवार को पूर्व प्रधानमंत्री इंद्र कुमार गुजराल की 100 जयंति थी इस मौके पर कई जगहों पर कार्यक्रम आयोजित किए गए थे. ऐसे ही एक कार्यक्रम में बोलते हुए मनमोहन सिंह ने कहा कि अगर उस समय इंद्र कुमार गुजराल ने सरकार से दंगों से बचने के लिए सेना को तैयार करने के लिए कहा था लेकिन उनकी बातों पर कोई विशेष ध्यान नहीं दिया गाय और फिर इसके बाद जो हुआ सबने देखा.

तिहाड़ जेल से आने के बाद सोनिया गांधी से मिले पी चिदंबरम, बोले- बाहर निकलकर खुश हैं

उन्होंने कहा कि दंगा भड़कने से एक रात पहले इंद्र कुमार गुजराल ने तत्कालीन गृहमंत्री नरसिम्हाराव से भी मुलाकात की थी. पूर्व पीएम ने कहा कि जब दंगे हुए उस समय को माहौल को देखकर इंद्रकुमार गुजराल काफी चिंतित थे और वह नरसिम्हा राव से पास गए और बोले कि स्थिति बहुत खराब है और जितना जल्दी हो सके सेना को बुला लिया जाए. उन्होंने कहा कि अगर गुजराल की सलाह पर लोगों ने गौर किया होता तो उस घटना को टाला जा सकता था.

यूपी सीएम योगी को ‘अजय सिंह बिष्ट’ कहने वाले सपा प्रवक्ता के खिलाफ मुकदमा

आपको बता दें कि दौरान पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी भी मौजूद रहे और उन्होंने ने भी पूर्व पीएम की जयंति पर उनकी राजनीति सोच की बड़ाई करते हुए कहा कि इंद्र कुमार गुजराल दूरदृष्टि की सोच रखते थे और उनकी विदेश नीति उन्हें सबसे अलग बनाती थी. पूर्व पीएम गुजराल की जयंति के कार्यक्रम में कई बड़े बड़े नताओं ने भाग लिया.