हैदराबाद: साइबराबाद पुलिस ने हैदराबाद में एक महिला वेटनरी डॉक्‍टर के साथ गैंगरेप और उसकी मर्डर के चारों आरोपियों के पुलिस मुठभेड़ में मारे जाने की घटना की जांच की रिपोर्ट और घटना से जुड़े सबूत मंगलवार को राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग(एनएचआरसी) को सौंप दिए. वहीं, सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले की जांच के लिए उच्‍चतम न्‍यायालय के एक पूर्व जज को नियुक्‍त करने के लिए प्रस्‍ताव दिया है.Also Read - Omicron के डर के बीच तेलंगाना के एक स्‍कूल की 45 स्‍टूडेंट और एक टीचर COVID-19 पॉजिटिव मिलीं

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि उसे पता है कि तेलंगाना हाईकोर्ट ने पहले ही इस मामले को अपने हाथ में ले लिया है. हम शीर्ष कोर्ट के पूर्व जज को इस मामले की जांच लिए नियुक्‍त करेंगे, जो दिल्‍ली में बैठेंगे और इस केस की जांच करेंगे. Also Read - दिल्ली के कंस्ट्रक्शन मजदूरों को 5000 रुपये देगी केजरीवाल सरकार, जानें पूरी डिटेल

Also Read - Pollution: सुप्रीम कोर्ट ने पूछा, क्या सेंट्रल विस्टा के कारण दिल्ली में प्रदूषण बढ़ रहा है, मेट्रो को भी दिया ये आदेश

पुलिस के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि एफआईआर की कॉपी, सीसीटीवी फुटेज और घटना से संबंधित सबूत सहित सभी दस्तावेजों को एनएचआरसी को सौंप दिया गया है. अधिकारी ने यह भी कहा कि पुलिस ने एनएचआरसी को आरोपियों और पुलिस के बीच हुई गोलीबारी का विवरण भी सौंप दिया है.

एनएचआरसी ने छह दिसंबर को चारों आरोपियों को घटना की जांच के संबंध में अपराध स्थल पर ले जाने वाले पुलिस अधिकरियों को मंगलवार से पहले पेश होने को लिए कहा था. हालांकि, इस बात का खुलासा नहीं हो पाया है कि आयोग ने उनके बयान दर्ज किए हैं या नहीं. आयोग की सात सदस्यीय जांच समिति ने शनिवार को घटना की जांच शुरू की है.