हैदराबाद. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री एस जयपाल रेड्डी का शनिवार देर रात हैदराबाद के एक अस्पताल में निधन हो गया. वह 77 वर्ष के थे. उनके करीबी सूत्रों ने यह जानकारी दी. कांग्रेस के एक नेता ने बताया कि रेड्डी को हाल में निमोनिया हुआ था और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां देर रात एक बजकर 28 मिनट पर उनका देहांत हो गया. रेड्डी कई दशकों तक सांसद रहे और उन्होंने विभिन्न सरकारों में अहम पद संभाले. वह चार बार विधायक, पांच बार लोकसभा सांसद और दो बार राज्यसभा सदस्य चुने गए थे. सूत्रों ने बताया कि

कांग्रेस ने एक ट्वीट किया कि रेड्डी के निधन की खबर बेहद दु:खद है. पार्टी ने कहा, ‘‘हम कामना करते हैं कि दुख की इस घड़ी में उनके परिवार और दोस्तों को हौसला मिले.’’ कांग्रेस की तेलंगाना इकाई के प्रमुख उत्तम कुमार रेड्डी ने कहा, ‘‘जयपाल रेड्डी के आकस्मिक निधन से बहुत दुखी हूं.’’ उन्होंने पार्टी के वरिष्ठ नेता को बेहतरीन वक्ता, अच्छा इंसान और बड़ा बुद्धिजीवी बताया. उन्होंने कहा, ‘‘यह मेरे और पूरी कांग्रेस पार्टी के लिए निजी रूप से भारी क्षति है. वह हमें याद आएंगे.’’

मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव के बेटे टीआरएस के कार्यकारी अध्यक्ष टी राम राव ने भी रेड्डी के निधन पर शोक जताया. उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘वरिष्ठ नेता एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री जयपाल रेड्डी के परिवार और दोस्तों के प्रति मेरी संवेदनाएं. ईश्वर आपकी आत्मा को शांति दे.’’ रेड्डी आई के गुजराल सरकार में सूचना एवं प्रसारण मंत्री रहे थे. संप्रग-1 सरकार के दौरान उन्होंने शहरी विकास और संस्कृति जैसे मंत्रालयों को संभाला. संप्रग-2 सरकार में वह फिर शहरी विकास मंत्री बने. बाद में वह पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री बने लेकिन फिर उन्हें विज्ञान एवं प्रौद्योगिक और पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय सौंप दिए गए.