यूपी और उत्तराखंड के पूर्व सीएम एनडी तिवारी का गुरुवार की दोपहर को दिल्ली के एक निजी अस्पताल में निधन हो गया. वह लंबे समय से बीमार थे. वह देश के ऐसे पहले राजनेता थे जिन्हें दो-दो राज्यों का मुख्यमंत्री बनने का मौका मिला. वह पहले अविभाजित उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने और बाद में उत्तराखंड के मुख्यमंत्री बने. Also Read - फिर बिगड़ी मुलायम सिंह यादव की तबीयत, मेंदाता हॉस्पिटल में किए गए भर्ती; दो दिन पहले ही हुए थे डिस्चार्ज

नारायण दत्त तिवारी नेहरू-गांधी परंपरा के नेता थे. उन्होंने स्वतंत्रता आंदोलन में भी हिस्सा लिया था. वह केंद्र की राजनीति में वित्त, विदेश, उद्योग, श्रम सरीखे अहम मंत्रालयों की कमान संभाल चुके थे. हालांकि, जीवन के अंतिम दौर में वह राजनीति में कम सक्रिय दिखे. लेकिन साल 2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान वह बीजेपी ज्वाइन कर लिए थे.

बता दें कि एनडी तिवारी का जन्म 18 अक्टूबर 1925 को हुआ था. जिस दिन उनका जन्म हुआ था, उसी दिन उन्होंने अंतिम सांस ली.