गुरुग्रामः दिल्ली से सटे गुरुग्राम में गुरुवार सुबह एक बड़ा हादसा हो गया. यहां एक निर्माणाधीन चार मंजिला इमारत ढह गई, जिसमें 20 लोगों के फंसे होने की आशंका है. यह घटना उल्लावास गांव में हुई. गुरुग्राम दमकल विभाग के नियंत्रण कक्ष को उल्लावास गांव में इमारत ढहने के बारे में एक स्थानीय निवासी ने सुबह पांच बजकर 15 मिनट पर फोन करके सूचना दी.

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया, “यह इमारत दयाराम नाम के एक शख्स की है, इसमें करीब 20 लोग किराए पर रहते थे जिनमें ज्यादातर आसपास के सेक्टरों में काम करने वाले सुरक्षा गार्ड हैं.” अधिकारी ने कहा कि चौथी मंजिल के कुछ हिस्से को छोड़कर इमारत करीब पूरी तैयार थी. अधिकारी ने आगे कहा, “राज्य आपदा मोचन बल (एसडीआरएफ) और सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ), अपने नजदीकी बेस कैंप से यहां पहुंच गए हैं और राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) से भी मदद मांगी गई है.”

आसपास के इलाकों में रहने वाले लोगों ने कहा कि इमारत अनधिकृत थी. गुरुग्राम पुलिस के जनसंपर्क अधिकारी सुभाष बोकन ने बताया, ‘‘बचाव दल भारी कंक्रीट और लोहे की छड़ें हटाकर मलबे में दबे मजदूरों की तलाश कर रहे हैं. उन्हें बचाने का काम चल रहा है.’’ दमकल विभाग के एक अधिकारी इशाम सिंह ने कहा, ‘‘बचाव दल को भारी कंक्रीट, लोहे की छड़ें, मलबा हटाने में मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है.’’ उन्होंने बताया कि यह हादसा तब हुआ जब इमारत की चौथी मंजिल के लिए लेंटर डालने का काम चल रहा था. पुलिस इमारत के मालिक की तलाश कर रही है. वह उल्लावास गांव का रहने वाला है.