सुपौल: बिहार के सुपौल जिले के त्रिवेणीगंज थाना क्षेत्र में बुधवार को एक घर में बने शौचालय के निर्माणाधीन सेप्टिक टैंक की सेंटरिंग खोलने के दौरान जहरीली गैस की चपेट में आने से चार मजदूरों की मौत हो गई जबकि एक अन्य मजदूर की हालत अभी गंभीर बनी हुई है.

पुलिस के अनुसार, सिमरिया गांव निवासी उमेश मंडल के घर में शौचालय के लिए पिछले दिनों सेप्टिक टैंक का निर्माण कराया गया था. इसी क्रम में बुधवार को सेंटरिंग खोलने के लिए टैंक में सीढ़ी लगाकर एक-एक कर चार मजदूर उतरे और जहरीली गैस की चपेट में आने से चारों की मौत हो गई.

एक अन्य मजदूर टैंक के अंदर जाने के क्रम में ही बेहोश हो गया, जिसे ग्रामीणों की मदद से किसी तरह बाहर निकाल लिया गया. त्रिवेणीगंज के पुलिस उपाधीक्षक जितेंद्र कुमार ने बताया कि मृतकों की पहचान विश्वबंधु मंडल, राजेश मंडल, उपेन्द्र मंडल और संतोष मंडल के रूप में की गई है.

उन्होंने कहा कि इस मामले में बेहोश मजदूर को इलाज के लिए सहरसा भेज दिया गया है और पुलिस मामले की छानबीन कर रही है. उन्होंने कहा कि शवों को पोस्टमार्टम के लिए सुपौल सदर अस्ताल भेज दिया गया है.

(इनपुट: एजेंसी)