नई दिल्ली: वंदे भारत मिशन के चौथे चरण के तहत तीन से 15 जुलाई तक एअर इंडिया 114, वहीं इंडिगो और गोएयर क्रमश: 457 और 41 विमानों का परिचालन करेंगी. सरकार ने विदेशों में फंसे भारतीयों की वापसी के लिए छह मई को इस मिशन की शुरुआत की थी. वैसे भारत में अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ान सेवा कोरोना वायरस संक्रमण के कारण 23 मार्च से निलंबित है.Also Read - Air India: एयर इंडिया के यात्रियों के लिए बदल गया इन-फ्लाइट पायलट के स्वागत का अंदाज

एअर इंडिया के एक दस्तावेज के अनुसार, मिशन के चौथे चरण में वह कनाडा, अमेरिका, ब्रिटेन, केन्या, श्रीलंका, फिलीपीन, किर्गिस्तान, सऊदी अरब, बांग्लादेश, थाइलैंड, दक्षिण अफ्रीका, रूस, ऑस्ट्रेलिया, म्यामां, जापान, यूक्रेन और वियतनाम समेत 17 देशों से भारत के लिए 114 उड़ानों का परिचालन करेगी. Also Read - Air India: एयर इंडिया को मिलेंगे 140 से ज्यादा विमान, टाटा सन्स के पास कोई अचल संपत्ति नहीं रहेगी

ये उड़ानें तीन जुलाई से 15 जुलाई के बीच संचालित होंगी. दस्तावेज के अनुसार, 31 उड़ानें अमेरिका से और 19 उड़ानें ब्रिटेन से भारत के लिए संचालित होंगी. इससे पहले एअर इंडिया के एक दस्तावेज में कहा गया था कि वह 17 देशों से कुल 170 उड़ानों का परिचालन करेगी. इंडिगो और गोएयर जैसी निजी एयरलाइन्स भी मिशन के चौथे चरण में बड़ी भूमिका निभाएंगी. Also Read - Indigo | Spicejet Shares: वैश्विक कच्चे तेल की कीमतों में बढ़ोतरी से इंडिगो, स्पाइसजेट के शेयरों में गिरावट

नागर विमानन मंत्रालय ने रविवार शाम को एक ट्वीट में कहा, ‘‘निजी एयरलाइन्स वंदे भारत मिशन के चौथे चरण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगी. इंडिगो कतर से 238 और कुवैत से 219 उड़ानों का संचालन करेगी, वहीं गोएयर कुवैत से 41 उड़ानों का परिचालन करेगी. निजी विमानन कंपनियों और उड़ानों तथा गंतव्यों की संख्या बढ़ सकती है.’’

(इनपुट भाषा)