नई दिल्ली: फ्रांस के शहर बिआरित्ज में जी-7 शिखर सम्मेलन में दुनिया के कई देशों के राष्ट्राध्यक्षों के बीच पीएम मोदी ने भारत और पाकिस्तान के रिश्तों को लेकर खुलकर बात की. इस दौरान अन्य देशों के राष्ट्राध्यक्ष लाइन में बैठे जबकि पीएम मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप सबके सामने बैठे. गंभीर मुद्दों के बीच एक ऐसा वाकया भी हुआ, जिसने माहौल को हल्का-फुल्का कर दिया. पीएम मोदी खिलखिलाकर हंस पड़े और डोनाल्ड ट्रंप के हाथ पकड़ लिए. पीएम मोदी और ट्रंप दोनों ही काफी देर तक हंसते रहे.

कश्मीर पर मध्यस्थ्ता: पीएम मोदी का ट्रंप को जवाब- हम पाकिस्तान से सुलझा लेंगे अपने मुद्दे, कृपया कष्ट न करें

दरअसल, जी-7 शिखर सम्मेलन चल रहा था. पीएम मोदी और ट्रंप अगल-बगल में बैठे थे. पीएम मोदी हिंदी में अपनी स्पीच दे रहे थे. इसी दौरान बात ख़त्म होते ही ट्रंप ने पीएम मोदी की ओर इशारा करते हुए कहा कि ‘ये अंग्रेजी बहुत अच्छी बोलते हैं, लेकिन अभी बोलना नहीं चाह रहे हैं.’ इतना सुनते ही पीएम मोदी ठहाका लगाकर हंस पड़े. उन्होंने ट्रंप के हाथ पर अपना हाथ मारा. इसके बाद पीएम मोदी और ट्रंप एक दूसरे का हाथ हंसते रहे. हल्का फुल्का मिजाज़ लिए इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

इसके बाद पीएम मोदी ने इस मुलाक़ात को बढ़िया बताया। वहीं, डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट कर कहा कि मेरे दोस्त प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात बेहत शानदार रही. बता दें कि भारतीय प्रधानमंत्री ने आज ट्रंप सहित दुनिया के कई राष्ट्र अध्यक्षों के सामने कश्मीर और पाकिस्तान से रिश्तों को लेकर खुलकर बात की. उन्होंने कहा कि भारत और पाकिस्तान 1947 से पहले एक ही थे. हम बातचीत कर हर मुद्दे को सुलझा लेंगे. हम नहीं चाहते हैं कि कोई और देश इसमें हस्तक्षेप करने का कष्ट न करें. बता दें कि डोनाल्ड ट्रंप कश्मीर को लेकर कई बार मध्यस्थता करने की बात कह चुके हैं. आज पीएम मोदी ने बेहद सधे हुए तरीके से ट्रंप की मध्यस्थता वाली बातों का जवाब दे दिया.