नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को स्वतंत्रता दिवस के मौके पर आयुष्मान भारत राष्ट्रीय स्वास्थ्य सुरक्षा योजना Ayushman Bharat-National Health Protection Scheme (AB-NHPS) की घोषणा की. लाल किले के प्राचीर से प्रधानमंत्री ने कहा कि ये योजना 25 सितंबर से शुरू की जाएगी. इसके लिए उपयुक्त नागरिक को 5 लाख रुपये का हेल्थ कवर मिलेगा. Also Read - Video: जानें क्या है आयुष्मान भारत योजना, कौन ले सकता है लाभ, कहां बनेगा ई-कार्ड

पीएम मोदी ने कहा कि इस स्वास्थ्य योजना को आने वाले चार से पांच हफ्ते तक कई चरणों में टेस्ट किया जाएगा. उन्होंने कहा कि इस योजना के तहत सभी भारतीयों को हेल्थ कवर दिया जाएगा. इसमें तकरीबन 10 करोड़ परिवार मतलब 50 करोड़ लोग शामिल होंगे.
इस तरह चेक करिए कि आप राष्ट्रीय स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के लिए एलिजिबल हैं या नहीं:- Also Read - Free Ayushman Bharat Card: अब मुफ्त में पाएं आयुष्मान भारत कार्ड, 5 लाख रुपये तक का उठा सकते हैं फायदा, जानें- कैसे?

> आयुष्मान भारत वेबसाइट पर लॉग इन करिए
> आप शहर में गांव में रहते हैं, इसे सिलेक्ट करें. इंग्लिश में Rural और Urban का टैब होगा.
> आप यहां अपना मोबाइल नंबर डालिए, जिससे आपके पास एक ओटीपी आएगा.
> ओटीपी डालने पर आपके सामने लिस्ट आ जाएगी.
> लिस्ट को आप डाउनलोड भी कर सकते हैं.
> इसे भविष्य के लिए सेव क लिजिए. Also Read - Ayushman CAPF: अमित शाह ने 'आयुष्मान सीएपीएफ' का शुभारंभ किया, 28 लाख जवानों को मिलेगा लाभ

केंद्र ने इस योजना के लिए 10,000 करोड़ रुपये की धनराशि आवंटित की है. ऐसा दावा किया जा रहा है कि यह दुनिया में, सरकार द्वारा वित्त पोषित सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना है. हालांकि अभी केंद्र द्वारा राज्यों को अपना कोष जारी करना बाकी है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने इस योजना के तहत बीमा करने के लिए सरकारी और निजी अस्पतालों को सूचीबद्ध करने की औपचारिक प्रक्रिया शुरू कर दी है.

इन्हें मिलेगा फायदा
इस स्कीम का उद्देश्य सामाजिक-आर्थिक जाति जनगणना के आधार पर शामिल 10 करोड़ परिवार को मदद पहुंचाना है. इसमें ये सुनिश्चित करना है कि गरीब-वंचित ग्रुप का कोई भी व्यक्ति इस सुविधा से दूर न रह पाए. इसके लिए परिवार के साइज का निर्धारण नहीं हुआ है. इससे परिवार में जीतने भी सदस्य रहेंगे उन्हें ये सुविधा मिलेगी. इस स्कीम के तहत प्री और पोस्ट हॉस्पिटलाइजेशन में एंश्योरेंस कवर होगा.

14 राज्यों की केंद्र से बनी बात
14 राज्यों ने केंद्र के साथ एक सहमति बना ली है. इसमें आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, मध्यप्रदेश, असम, सिक्किम और चंडीगढ़ हैं. ये अपना एक ट्रस्ट मॉडल यूज करेंगे. ट्रस्ट मॉडल बिल के मुताबिक, बिल सीधा सरकार के द्वारा रीइंबर्स होगा. गुजरात और तमिलनाडु ने मिक्स्ड मोड में इसमें सहमति बनाई है.