नोटबंदी के बाद लोग पैसों के लिए परेशान थे। लेकिन बैंको के एटीएम में पैसे तो आने लगे हैं लेकिन निजी बैंकों ने अब अपने नियमों में कुछ बदलाव करना शुरू कर दिया है। 1 मार्च, 2017 से एचडीएफसी बैंक ने अपने बचत और सैलरी खाता धारकों के लिए नए नियम लागू कर दिए हैं। इस नए नियम के तहत बचत और सैलरी खाता धारक अब सिर्फ 4 बार ही मुफ्त में बैंक में पैसा जमा कर सकेंगे और निकाल भी सकेंगे।

बता दें की इस नए नियम के तहत अब चार बैंकिंग ट्रांजेक्‍शन में बैंक में जमा करने और निकालने दोनों की संख्‍या शामिल होगी। इसके साथ ही इस नियम के लागू होने के बाद से बचत या सैलरी खाता धारक जब पांचवी बार बैंक में पैसा जमा करने या निकालने जाएंगे तो उनसे एचडीएफसी 150 रुपए चार्ज रूप में देना होगा, इसके अलावा ग्राहक को टैक्‍स और सेस भी देना होगा। यह भी पढ़ें: एचडीएफसी का शुद्ध लाभ 13 प्रतिशत बढ़कर 2729 करोड़ रपये

जानिए कितना चार्ज देना होगा

छठे ट्रांजेक्‍शन पर इन खाता धारकों से भी 150 रुपए प्रति ट्रांजेक्‍शन चार्ज वसूल किया जाएगा
होम ब्रांच से 2 लाख रुपए प्रतिमाह निकालने पर कोई शुल्‍क नहीं लगेगा।
2 लाख से ऊपर रुपए निकालने पर हर हजार रुपए पर 5 रुपए चार्ज वसूल किया जाएगा।
गैर होम ब्रांच से 25 हजार रुपए निकालने तक कोई चार्ज नहीं।
25 हजार रुपए से ऊपर निकालने पर हर 1000 रुपए पर 5 रुपए चार्ज किया जाएगा।
थर्ड पार्टी ट्रांजेक्‍शन के दौरान 25,000 रुपए से ज्‍यादा निकालने की अनुमति नहीं।
सीनियर सिटीजन, बच्‍चों और नाबालिग लोगो के लिए 25 हजार की राशि तय है लेकिन इनसे चार्ज नही लिया जाएगा।