नई दिल्ली: नई दिल्ली से प्रकाशित होने वाले मुख्य अखबारों में सीबीएसई के 10वीं क्लास के रिजल्ट को मुख्य खबर के रूप में प्रकाशित किया गया है. नवभरत टाइम्स में ”पास होने वाले फिर घटे” के रूप मे रूप में मुख्य खबर को प्रकाशित किया गया है. वहीं हिंदुस्तान में 10वीं में एनसीआर का दबदबा, दैनिक भास्कर में 8 साल बाद फिर मार्क्स पैटर्न पर रिजल्ट 5 घंटे के भीतर ही 3 छात्रों ने की खुदकुशी और अमर उजाला में 500 में से 499 अंक लेकर 4 बच्चे संयुक्त टॉपर जैसी खबरों को लीड खबर के रूप में प्रकाशित किया गया है.

नवभारत टाइम्स
नवभारत टाइम्स में कम नंबर से परेशान क्यों, 10वीं तो शुरुआत है, कई रास्ते खुलेंगे और पास होने वाले फिर घटे लो लीड खबर के रूप में प्रकाशित किया गया है. एनबीटी में तनाव भरे दसवीं के एग्जाम के बाद अच्छे नंबर पाने वाले स्टूडेंट्स आज सेलिब्रेट कर रहे हैं, लेकिन जिनके पर्सेंट कम हैं, वे समाज की आंखों के तारे नहीं बनते” को प्रकाशित किया गया है. वहीं यह वक्त उनके लिए दिल के दरवाजे खोलने का है. नंबर कम आना नाकामी नहीं, जिंदगी के नए रास्तों को तलाशने की शुरुआत है. आज यह शुरुआत होनी ही चाहिए. इसके अलावा अन्य खबरों में मेरठ हाइवे पर दुल्हन के कातिल मुठभेड़ में ढेर को भी प्रकाशित किया गया है. इस खबर के मुताबिक मारे गए बदमाशों में मोदीनगर का हिमांशु उर्फ नरसी और मेरठ के परतापुर का धीरज है. ये महविश हत्याकांड में वॉन्टेड थे और दोनों पर 25-25 हजार का इनाम था. इन पर परतापुर में हाइवे पर बने बिग बाइट रेस्टोरेंट के सामने कार लूट करने का भी आरोप था. इनके 2 साथी पहले ही गिरफ्तार किए जा चुके हैं.

हिंदुस्तान
हिंदुस्तान में 10वीं में एनसीआर का दबदबा को लीड खबर के रूप में प्रकाशित किया गया है. खबर के अमुसार टॉपर 25 छात्र-छात्राओं में से 14 एनसीआर के शहरों के हैं. यही नहीं, पहली बार एक साथ चार छात्र-छात्राएं समान अंक पाकर शीर्ष स्थान पर रहे. इनमें गुरुग्राम के प्रखर मित्तल, यूपी के बिजनौर की रिमझिम अग्रवाल और शामली की नंदिनी गर्ग और कोच्चि की श्रीलक्ष्मी जी शामिल हैं. चारों को 500 में 499 अंक (99.8 फीसदी) मिले हैं.

दैनिक भास्कर
दैनिक भास्कर में 8 साल बाद फिर मार्क्स पैटर्न पर रिजल्ट 5 घंटे के भीतर ही 3 छात्रों ने की खुदकुशी को मुख्य खबर के रूप में प्रकाशि किया गया है. खबर के मुताबिक सीबीएसई ने मंगलवार दोपहर करीब 1 बजे 10वीं की बोर्ड परीक्षा के नतीजे घोषित किए. 8 साल बाद सीसीई पद्धति खत्म कर फिर से मार्क्स-पर्सेंटेज के आधार पर रिजल्ट जारी किया गया है. 2011 से 2017 तक रिजल्ट ग्रेडिंग सिस्टम (सीजीपीए) के आधार पर जारी किया जा रहा था. इस बार पहले 3 स्थानों पर 25 छात्र हैं. इनमें 17 लड़कियां और 8 लड़के हैं. 500 में से 499 यानी 99.8% नंबर के साथ 4 टॉपर हैं.