नई दिल्ली से प्रकाशित तमाम अखबारों में गुरूवार को एक पैसे सस्ता होने की खबर को मुख्य रूप से शामिल किया गया है. नवभारत टाइम्स में लाख टके का सवाल एक पैसे का क्या करेंगे को मुख्य रूप से प्रकाशित किया गया है. इसके अलावा दैनिक भास्कर में पेट्रोल-डीजल: 16 दिन में 380 पैसे महंगा, 17वें दिन सस्ता को लीड खबर के रूप में प्रकाशित किया गया है. वहीं हिंदुस्तान में गंगा की दुर्दशा : काशी में नाव की जगह दौड़ रहीं कारें को मुख्य पेज पर प्रकाशित किया गया है. Also Read - नॉर्थ कोरिया सभी परमाणु हथियार खत्म करने पर राजी, भय्यू जी महाराज ने की आत्महत्या

नवभारत टाइम्स
नवभारत टाइम्स लाख टके का सवाल एक पैसे का क्या करेंगे को मुख्य पृष्ठ पर प्रकाशित किया गया है. खबर के मुताबिक सरकार ने इस गाने को कुछ ज्यादा ही संजीदगी से ले लिया कि ‘गरीबों की सुनो, वो तुम्हारी सुनेगा, तुम 1 पैसा दोगे, वो 10 लाख देगा.1 पैसा कम हो गया लेकिन अभी भी कुछ लोग कह रहे हैं कि मोदी जी कुछ नहीं कर रहे! इसके अलावा अन्य खबरों में 19 घंटे लग गए आग बुझाने में, हेलिकॉप्टर की भी मदद ली को शामिल किया गया है. मंगलवार रात दिल्ली के मालवीय नगर में एक रबर गोदाम में भयंकर आग लग गई. आग इतनी भयानत थी कि इसे बुझाने में 19 घंटों तक मशक्कत करनी पड़ी. लगभग 40 दमकलों और दर्जनों कर्मचारी लगे रहे. घंटों मशक्कत के बाद भी आग शांत नहीं हुई, तब रात करीब 1 बजे एयरफोर्स के हेलिकॉप्टर की मदद ली गई. सुबह बंबी बकेट से लैस हेलिकॉप्टर ने यमुना रिजर्वेयर से पानी लिया और आग पर डाला. हेलिकॉप्टर ने तीन बार ऐसा किया जिसके बाद दमकल कर्मियों की मदद से आग बुझाई जा सकी. विंग कमांडर प्रदीप के मुताबिक, यह पहला मौका था, जब शहरी इलाके में ऐसा अभियान चलाया गया. Also Read - एससी-एसटी को प्रमोशन में आरक्षण पर रोक हटी, सुनंदा पुष्कर मामले में थरूर आरोपी, केस चलेगा

दैनिक भास्कर
दैनिक भास्कर में पेट्रोल-डीजल: 16 दिन में 380 पैसे महंगा, 17वें दिन सस्ता को मुख्य रूप से प्रकाश्त किया गया है. खबर के मुताबिक पेट्रोल-डीजल के दामों में राहत की उम्मीद कर रहे लोग बुधवार को ठगे से रह गए. तेल कंपनियों ने पहले पेट्रोल 60 पैसे सस्ता करने की घोषणा की. फिर दो घंटे बाद ही भूल सुधार करते हुए उसे सिर्फ एक पैसा कर दिया. इससे पहले 14 से 29 मई तक कीमतें लगातार बढ़ीं. इन 16 दिनों में पेट्रोल 3.80 रु, यानी 380 पैसे और डीजल 3.38 रु. महंगा हुआ. दोनों के दाम 46 दिन बाद घटे हैं. इससे पहले 12 अप्रैल को डीजल और 13 अप्रैल को पेट्रोल 3-3 पैसे सस्ता हुआ था. दाम एक पैसा घटाने पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर तंज कसा. कहा- ‘प्रधानमंत्री जी अगर आपने दर एक पैसे कम कर मजाक करने की कोशिश की है तो यह बचकाना है. यह मेरे फ्यूल चैलेंज का सही जवाब नहीं है.’ Also Read - 10वीं में एनसीआर का दबदबा, सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान ने पहली बार रखा शांति का प्रस्ताव

हिंदुस्तान
हिंदुस्तान में गंगा की दुर्दशा : काशी में नाव की जगह दौड़ रहीं कारें खबर को मुख्य रूप से प्रकाशित किया गया है. पौराणिक आख्यानों पर यकीन करें तो सदानीरा गंगा का सूखना कलियुग के आने का संकेत है. यह कलियुग हैकि नहीं, हम यह नहीं कहते. पर गंगा की जिन धाराओं में नावें चलतीं थीं वहां अब रेत है और उस पर लोग कार और मोटरसाइकिलें दौड़ा रहे हैं. इस सच की गवाह हैं इलाहाबाद, कानपुर, अलीगढ़ से लेकर बनारस तक की तस्वीरें. यह चिंता तब और घनी हो जाती है जब गंगोत्री से गंगासागर तक की यात्रा में कई सहायक नदियों का जल भी गंगा में मिल जाता है. इसके अलावा अन्य खबरों में खेतीपर मानसून मेहरबान रहेगा को भी शामिल किया गया है.