नई दिल्ली: केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण राज्य मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर ने सोमवार को कहा कि भारतीय फिल्म एवं टेलीविजन संस्थान (एफटीआईआई) के अध्यक्ष पद पर अभिनेता व भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता गजेंद्र चौहान की नियुक्ति का विरोध करने वाले संस्थान के विद्यार्थियों से वार्ता के लिए सरकार तैयार है। यह भी पढ़े:एक पैराग्राफ की CV से गजेंद्र चौहान को बनाया गया FTII का अध्यक्षAlso Read - एफटीआईआई के अध्यक्ष नियुक्त किए गए शेखर कपूर, 2023 तक होगा कार्यकाल

Also Read - BJP ने हदें पार कर दीं, हम जीवन बचाने में लगे हैं और वे सरकार गिराने में: CM गहलोत

संसद के बाहर संवाददाताओं से राठौर ने कहा, “इस मुद्दे का राजनीतिकरण करना बहुत बड़ी गलती है और शायद इससे हड़ताल के कारणों का पता चलता है।” उन्होंने कहा, “एफटीआईआई के विद्यार्थियों की मांगों पर चर्चा कुछ समय से जारी है। सरकार विद्यार्थियों के प्रति बेहद उदार है।” Also Read - केंद्र में मंत्री बनने से चूके मनोज सिन्हा, राधामोहन सिंह और राज्यवर्द्धन राठौर को मिल सकता है नया काम

मंत्री ने कहा कि विद्यार्थियों का एक धड़ा हड़ताल जारी रखना चाहता है। उन्होंने कहा, “सरकार ने मुद्दे को सुलझाने के लिए विद्यार्थियों से चर्चा की है, फिर भी छात्रों का एक छोटा धड़ा हड़ताल जारी रखना चाहता है।” कांग्रेस नेता राहुल गांधी की ओर इशारा करते हुए उन्होंने कहा, “कुछ विद्यार्थियों को एक राजनीतिक पार्टी या नेता द्वारा गुमराह किया जा रहा है।”

उल्लेखनीय है कि राहुल गांधी ने एफटीआईआई के विद्यार्थियों का समर्थन किया है। बीते 50 दिनों से अधिक समय से 200 से अधिक विद्यार्थी चौहान की नियुक्ति के विरोध में हड़ताल पर बैठे हैं। उनका मानना है कि वे फिल्म अध्ययन के इस प्रख्यात संस्थान का नेतृत्व करने के लायक नहीं हैं और उनके पास दूरदृष्टि का अभाव है।