चेन्नई: मौसम विभाग ने तटीय तमिलनाडु के इलाकों के लिए रेड अलर्ट जारी किया है. दरअसल बंगाल की खाड़ी में गहरे दबाव का क्षेत्र बनने से चक्रवाती तूफान ‘गाजा’ मजबूत हो गया और इसके 14 से 15 नवंबर को कुड्डालोर और श्रीहरिकोटा के बीच उत्तरी तमिलनाडु और दक्षिणी आंध्र प्रदेश तट से गुजरने की संभावना है. इसमें चेन्‍नई भी शामिल है. ऐसे में इन इलाकों में भारी बारिश होने की संभावना जताई गई है. Also Read - इस राज्य में बिना परीक्षा दिये ही पास हो गए 9वीं, 10वीं, 11वीं के छात्र, जानें मुख्यमंत्री ने क्या कहा...

Also Read - Tamil Nadu Elections: पीएम मोदी बोले- भारतीय इतिहास के महत्वपूर्ण क्षण में होने जा रहे तमिलनाडु विधानसभा चुनाव

  Also Read - Retirement Age Increased: इस राज्य में बढ़ी सरकारी कर्मचारियों के रिटायरमेंट की उम्र, 59 की जगह अब...

आईएमडी के एक बुलेटिन में कहा गया कि ‘गाजा’ नाम का चक्रवात चेन्नई के उत्तरपूर्व में करीब 860 किलोमीटर की दूरी पर मौजूद है और वह 12 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से आगे बढ़ रहा है. उसके अगले 24 घंटे के भीतर ‘गंभीर चक्रवात तूफान’ में तब्दील होने की संभावना है. तमिलनाडु, पुडुचेरी और आंध्र प्रदेश के ऊपर करीब 80-90 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलने की संभावना है. आईएमडी की ओर से सोमवार को जारी बुलेटिन में कहा गया कि उत्तरी तमिलनाडु और पुडुचेरी के अलग-अलग इलाकों में भारी बारिश के साथ कुछ स्थानों पर बारिश हुई है. इसके अलावा दक्षिण तटीय आंध्र प्रदेश, रायलसीमा और दक्षिण तमिलनाडु में भी भारी बारिश की संभावना जताई गई है.

आंधी तूफान आने पर बचाव के लिए क्या करना चाहिए और क्या नहीं

14 और 15 नवंबर को भारी बारिश की संभावना

संवाददाताओं से बात करते हुए क्षेत्रीय चक्रवात चेतावनी केन्द्र के निदेशक एस बालचंद्रन ने कहा कि उत्तरी तमिलनाडु के तटीय क्षेत्रों में 14 नवंबर की रात को औसत जबकि कुछ स्थानों पर भारी बारिश होने की संभावना है. उन्होंने कहा कि 15 नवंबर को कई जगहों पर औसत बारिश जबकि कुछ स्थानों पर भारी बारिश होने का अनुमान है.

मछुआरों को समुद्र में न जाने की सलाह

मछुआरों को 12 नवंबर से समुद्र में मछली पकड़ने के लिए नहीं जाने की सलाह दी गई है और जो समुद्र में मौजूद हैं उन्हें वापस लौटने को कहा गया है. भारतीय मौसम विभाग ने हालांकि कहा कि चक्रवात के 15 नवंबर को उत्तरी तमिलनाडु और दक्षिणी आंध्र प्रदेश के तटों को पार करते हुए धीरे धीरे कमजोर होने की संभावना है.

तमिलनाडु के मुख्‍य सचिव ने राहत-बचाव को लेकर की बैठक

इस बीच, यह भी बताया गया है कि तमिलनाडु के मुख्य सचिव गिरिजा वैद्यनाथन राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण, राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल और राज्य राजस्व और आपदा प्रबंधन विभाग के अधिकारियों के साथ चक्रवाती तूफान ‘गाजा’ को लेकर आज बैठक की. बैठक में तूफान से निपटने के लिए सभी विभागों को अलर्ट रहने के लिए कहा गया है. ‘तमिलनाडु वेदरमैन’ प्रदीप जॉन, जो कि एक स्वतंत्र मौसम ब्लॉगर ने कहा है कि तूफान के चलते भारी बारिश होने की संभावना है.

चेन्नई, कांचीपुरम, तिरुवल्लूर, विल्लुपुरम, नागाई में भी होगी तेज बारिश

रविवार को एक फेसबुक पोस्ट में, उन्होंने लिखा कि ज्‍यादातर इलाकों और उत्तर पश्चिमी तमिलनाडु में भी भारी बारिश की उम्मीद है. तमिलनाडु के तटीय बेल्ट चेन्नई, कांचीपुरम, तिरुवल्लूर, विल्लुपुरम, नागाई में भी तेज बारिश होगी. इसके अलावा पूरे उत्तरी इंटीरियर तमिलनाडु जिलों में तिर्की, एरियालुर, विल्लुपुरम, पेरामंबुर, करूर, सालेम, इरोड, तिरुपुर, कोइम्बाडोर, नीलगिरी, तिरुवन्नमलाई में भी भारी बारिश होने की संभावना है. इसके अलाव एक दिन बाद केरल में भी बारिश की बात कही गई है.