कल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गाय की सुरक्षा को लेकर हिंसा करनेवालों पर जो बयान दिया, उसके बाद हिंदू महासभा पीएम मोदी पर बुरी तरह से भड़क गई है। गाय को लेकर देश में राजनीति हो रही है, उसे लेकर पहली बार प्रधानमंत्री की ओर से कोई बयान आया है। इस बयान के बाद कई लोग उनके और बीजेपी के विरोध में खड़े हो गए हैं।  ये भी पढ़ें: मोदी लाइव इन टाउन हालः मोदी बोले- ‘गौरक्षा के नाम पर दुकान चलाने वालों पर गुस्सा आता है’

गोरक्षा के नाम पर गुंडागर्दी की बात को लेकर हिंदू महासभा की प्रतिक्रिया आई है, जिसमें अखिल भारतीय हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय महासचिव ने बयान दिया कि ‘अगर गौ रक्षा में कुछ घटनाएं हो जाती हैं तो मारपीट करने वालों को जेल भी जाना पड़ता है। लेकिन इस मामले में अगर 70 से 80 फीसदी लोग विरोध में खड़े हो रहे हैं, तो उन्हें गलत नहीं कहा जा सकता। उन्होंने आगे कहा की बीजेपी सरकार ने २०१४ के चुनावों में गौ हत्या पर रोक लगाने का वादा किया था। लेकिन इसके बाद गौ हत्या और भो बढ़ गई है। अगर कोई भी गौ रक्षक गिरफ्तार हुआ, तो हम इस बात का विरोध करेंगे।

बता दें कि कल ‘माई गवर्नमेंट’ पहल की दूसरी वर्षगांठ के अवसर पर शनिवार को टाउन हॉल में लोगों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने ऐसे लोगों पर निशाना साधा, जो गौ रक्षा के नाम पर दूकान चला रहे हैं। और ऐसे असामाजिक तत्वों के खिलाफ पीएम मोदी ने उन्होंने राज्य सरकारों को सलाह दी कि तथाकथित गाय रक्षकों पर दस्तावेज तैयार करें, क्योंकि उनमें से 80 फीसदी रात में अवैध गतिविधियां करते हैं। पीएम मोदी ने कहा कि गाय की रक्षा के आधार पर लोगों का शोषण नहीं किया जाना चाहिए।