लखनऊ : उत्‍तर प्रदेश की जेलों में अब गौशालाएं बनाई जाएंगी, जहां कैदी गायों की सेवा करते हुए नजर आएंगे. ये अनोखी पहल यूपी की योगी सरकार कर रही है. गो सेवा आयोग की सलाह के बाद उत्‍तर प्रदेश पुलिस राज्‍य की 12 जेलों में सरकारी गोशालाएं संचालित करेगी.

7 जिलों- 16 शहरी क्षेत्रों में 1000 गायों की क्षमता वाले प्रोजेक्‍ट
बता दें कि गो सेवा आयोग के प्रमुख पूर्व आईपीएस राजीव गुप्‍ता है और उन्‍हें योगी सरकार में प्रमुखता मिली है. योगी सरकार गायों के कल्‍याण के लिए प्रयासरत हैं और हाल ही में 7 जिलों में और 16 शहरी इलाकों में 1000 गायों की क्षमता वाले गोशाला के प्रोजेक्‍ट को हरी झंडी दी है.

कलेक्‍टर की बड़ी भूमिका, एनजीओ-पब्लिक की मदद से संचालन
सरकार गोशालाओं की स्‍थापना के लिए शेड और बाउंड्रीवाल्‍स के निर्माण में मदद देगी. एक कमेटी जिला कलेक्‍टर के अंडर में बनाई जाएगी, जो गोशालाओं का संचालन एनजीओ और पब्लिक की मदद से करेगी.

सफाई और गायों की सुरक्षा का भरपूर ध्‍यान
इस प्रोजेक्‍ट् का उद्देश्‍य यह भी है कि गोशालाओं में अच्‍छी सफाई रखी जा सके और प्‍लास्टिक खाने से गायों की होने वालों मौतों की घटनाओं कम करना सुनिश्‍चित किया जा सके. राज्‍य सरकार सरकारी जमीन से अवैध कब्‍जे हटाकर नए गो शेल्‍टर सुरक्षित जगहों पर बनाने की तैयारी में है. इन गो शेल्‍टर्स में गायों के लिए पानी और चारे की भरपूर सुविधा होगी.