नई दिल्ली: पूर्वी दिल्ली से भाजपा के सांसद गौतम गंभीर ने राष्ट्रीय राजधानी में सीएए को लेकर हुई हिंसा की निंदा करते हुए कहा, ‘‘ चाहे कपिल मिश्रा हो या कोई और ’’ भड़काऊ भाषण देने वाले पार्टी के हर सदस्य के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए. Also Read - गौतम गंभीर ने LOCKDOWN को लेकर दी चेतावनी, बोले-चुनें Quarantine या जेल!

सांसद ने संशोधित नागरिका कानून (सीएए) के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों से भी हिंसा में शामिल नहीं होने और सरकार से बात करने की अपील की. गंभीर ने पत्रकारों से कहा, ‘‘ चाहे जो भी हो, चाहे किसी भी पार्टी का हो, चाहे कपिल मिश्रा हो या कोई और, जो भी भड़काऊ भाषण दे उसके खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए.’’ Also Read - सचिन ने आज ही के दिन जड़ा था 100वां शतक, लेकिन मायूस हो गए थे क्रिकेट फैंस

मिश्रा ने गत रविवार को जाफराबाद इलाके में मौजपुर चौक पर सीएए के समर्थकों का नेतृत्व किया था, जिसके बाद यहां सीएए समर्थक और विरोधी समूहों में हिंसा भड़की. मिश्रा ने हाल ही में सम्पन्न हुए विधानसभा चुनाव में भाजपा की टिकट पर चुनाव लड़ा था. Also Read - Delhi Violence: PFI का दिल्ली प्रमुख परवेज व सचिव इलियास गिरफ्तार, कोर्ट ने 7 दिन की हिरासत में भेजा

गौरतलब है कि दिल्ली के जाफराबाद और मौजपुर में सोमवार को संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) का समर्थन करने वाले और विरोध करने वाले समूहों के बीच संघर्ष हो गया. प्रदर्शनकारियों ने कई घरों, दुकानों तथा वाहनों में आग लगा दी और एक-दूसरे पर पथराव किया था. हिंसा में एक कॉन्स्टेबल सहित सात लोग मारे गए. अर्द्धसैनिक बल और दिल्ली पुलिस के कर्मियों सहित कम से कम 150 लोग घायल हुए हैं.

(इनपुट भाषा)