नई दिल्ली: नरेंद्र मोदी सरकार के मौजूदा कार्यकाल के आखिरी पूर्ण बजट को वित्त मंत्री अरुण जेटली संसद में पेश कर रहे हैं. यह दूसरी बार है जब रेल बजट को आम बजट के साथ ही पेश किया जा रहा है. इससे पहले रेल बजट को आम बजट से एक दिन पहले पेश किया जाता रहा है. रेलवे के लिए वित्त मंत्री ने बड़ी घोषणा करते हुए 1.48 लाख करोड़ का प्रावधान किया है. जानिए वित्त मंत्री ने रेलवे के लिए क्या-क्या घोषणाएं की हैं.

जेटली ने रेलवे के लिए की ये अहम घोषणाएं

-वित्त मंत्री ने कहा, 25 हजारा से ज्यादा यात्रियों वाले सभी रेलवे स्टेशन्स पर एस्केलेटर्स बनाए जाएंगे.

-जेटली ने कहा, सभी रेलवे स्टेशन्स पर वाईफाई और सीसीटीवी कैमरे होंगे.

– 600 बड़े रेलवे स्टेशन्स का पुनर्विकास किया जा रहा है.

– 36000 किमी की नई रेल लाइने बिछाए जाने का प्रावधान.

-मुंबई लोकल का 90 किमी तक विस्तार होगा.

-मुंबई में 40,000 करोड़ रुपये की लागत से 140 किलोमीटर उपनगरीय रेल नेटवर्क विस्तार का फैसला.

-वित्त वर्ष 2018-19 में सरकार 18,000 किलोमीटर रेललाइनों का दोहरीकरण करेगी

-रेलवे की बेकार पड़ी जमीन का कारोबारी उपयोग होगा

-हाई स्पीड ट्रेन के लिए हर तकनीक का इंतजाम करेंगे

-सभी रेलवे स्टेशनों पर स्वचालित सीढ़ियां लगेंगी

-माल ढुलाई के लिए 12 वेगन बनाए जाएंगे