श्रीनगर: सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे ने बुधवार को कश्मीर घाटी में नियंत्रण रेखा के पास तैनात सैनिकों से सतर्क रहने और सुरक्षा की किसी भी चुनौती से निपटने के लिए तैयार रहने को कहा. सेना प्रमुख बनने के बाद मंगलवार को पहली बार कश्मीर दौरे पर पहुंचे जनरल नरवणे ने नियंत्रण रेखा के पास सुरक्षा बलों की तैनाती का जायजा लिया और इकाइयों का दौरा किया. Also Read - ऑपरेशन नमस्ते: सेना प्रमुख ने जवानों से कोरोना वायरस के खिलाफ पूरी सावधानी बरतने को कहा

  Also Read - सात महीने की हिरासत के बाद रिहा होंगे उमर अब्दुल्ला, जम्मू-कश्मीर सरकार ने जारी किए आदेश

रक्षा विभाग के एक प्रवक्ता ने कहा कि नियंत्रण रेखा पर स्थिति, संघर्ष विराम उल्लंघन, हमारी जवाबी कार्रवाई, घुसपैठ निरोधक अभियान और संचालन तैयारियों के बारे में स्थानीय कमांडरों ने सेना प्रमुख को जानकारी दी. सेना प्रमुख के साथ सेना के उत्तरी कमान के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल वाई. के. जोशी और चिनार कोर के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल के. जे. एस. ढिल्लों भी थे. उन्होंने सैनिकों से कहा कि किसी भी स्थिति से निपटने के लिए सतर्क रहें और सुरक्षा चुनौतियों का सामना करने के लिए हर समय तैयार रहें.

प्रवक्ता ने कहा कि ऊंचे क्षेत्रों में तैनात सैनिकों के साथ बातचीत में जनरल नरवणे ने नियंत्रण रेखा पर सैनिकों की निगरानी और उनके द्वारा बरती जा रही सतर्कता की प्रशंसा की. सेना प्रमुख को इससे पहले चिनार कोर के कमांडर ने बादामी बाग कैंट में नियंत्रण रेखा और दूरवर्ती क्षेत्रों के इलाकों की स्थिति से अवगत कराया. जनरल नरवणे ने जम्मू-कश्मीर प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों और सुरक्षा बलों से भी बातचीत की.