फोटो क्रेडिट – फेसबुकAlso Read - ‘Free Fire' Game Suicide Case: 13 साल के छात्र ने लगाई फांसी, सरकार ने गेम कंपनी के खिलाफ कराई रिपोर्ट

Also Read - MP में 'फ्री फायर' के चलते दूसरी सुसाइड: ऑनलाइन गेम में 40 हजार गंवाने पर 13 साल के छात्र ने फांसी लगाई

अपनी हुनर और कला को लेकर इस लड़की को पूरा भारत जानता था। इस 16 साल की लड़की ने नेशनल लेवल की तैराकी चैंपियनशिप में 100 से भी ज्यादा पदक हांसिल कर चुकी थी। आंखो में सपना था की भारत का नाम अंतराष्ट्रीय स्तर पर रोशन करने का। शायद यही कारण था की इस लड़की ने कभी हार नही मानी और मेहनत करती रही। स्वीमिंग पूल में लगातार पंद्रह घंटे तैरकर 38 किलोमीटर की दूरी तय की थी। लेकिन एक दिन इस स्विमर ने आत्महत्या कर ली। सायरा सिरोही ने आखिर ऐसा क्यों किया। Also Read - UP: RSS नेता के बेटे की सुसाइड केस में सब-इंस्‍पेक्‍टर समेत 5 पुलिसकर्मी सस्‍पेंड

16 साल की सायरा सिरोही ने नेशनल लेवल की तैराकी चैंपियनशिप में 100 से भी ज्यादा पदक हांसिल कर चुकी थी। सायरा के पिता जयदीप जो की उत्तर प्रदेश में पुलिस विभाग में काम करते हैं उन्हें बड़ी उम्मीद थी की बेटी उनका नाम जरुर रोशन करेगी। लेकिन जब उन्हें इस बात का पता चला की उनकी बेटी ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है तो उनके होश उड़ गए और पुरे परिवार में मातम पसर गया है। सायरा देहरादून के पब्लिक स्कूल में पढाई करती थी।

अब पुलिस इस मामलें की जांच कर रही है की आखिर क्या वजह थी जो मजबूत इरादों वाली सायरा सिरोही को आत्महत्या करना पड़ा। फिलहाल इस मामले पर अब तक कोई खुल के बोल नही रहा है और वहीं जहां सिरोही ने आत्महत्या किया था उस जगह से कोई सुसाइड नोट भी मिला है की नही इस बात की पुष्टि अब तक नही हुई है। सायरा का सपना था ओलंपिक में जाकर भारत का नाम रोशन करने का। यह भी पढ़ें: पाक के इस हिंदू क्रिकेटर ने कहा मै मर रहा हूं, BCCI मेरी मदद करे