नई दिल्ली: केंद्र सरकार ने गुरुवार को गुजरात काडर के आईएएस अधिकारी गिरीश चंद्र मुर्मू (Girish Chandra Murmu) को जम्मू कश्मीर का उपराज्यपाल जबकि आर के माथुर को लद्दाख का उपराज्यपाल नियुक्त किया. यह जानकारी एक आधिकारिक बयान में दी गई. एक आधिकारिक प्रवक्ता ने बताया कि जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक को गोवा का राज्यपाल बनाया गया है. वहीं पीएस श्रीधरन पिल्लई को मिजोरम का राज्यपाल नियुक्त किया गया है. गौरतलब है कि केंद्र ने गत पांच अगस्त को जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त करने के साथ ही राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांट दिया था. जिसके बाद ये बड़ा प्रशासनिक बदलाव देखने को मिला है.

मुर्मू गुजरात काडर के 1985 बैच के अधिकारी हैं. वहीं त्रिपुरा काडर के 1977 बैच के अधिकारी माथुर रक्षा सचिव के तौर पर कार्य कर चुके हैं और पूर्व मुख्य सूचना आयुक्त (सीआईसी) हैं. मुर्मू इस वर्ष नवम्बर में सेवानिवृत्त होने वाले थे. वहीं माथुर गत वर्ष नवम्बर में केंद्रीय सूचना आयोग से सेवानिवृत्त हुए थे. दोनों केंद्र शासित प्रदेश 31 अक्टूबर को अस्तित्व में आ जाएंगे. मोदी सरकार ने गत पांच अगस्त को जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा प्रदान करने वाले अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधान समाप्त कर दिये थे और राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांट दिया था.

केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से जारी एक अन्य आदेश के अनुसार गुप्तचर ब्यूरो के पूर्व प्रमुख एवं केंद्र सरकार की ओर से जम्मू कश्मीर के लिए नियुक्त वार्ताकार किये गए दिनेश्वर शर्मा को लक्षद्वीप का प्रशासक नियुक्त किया गया है. राष्ट्रपति भवन की ओर से जारी बयान में कहा गया कि भाजपा केरल इकाई अध्यक्ष पी एस श्रीधरन पिल्लई को मिजोरम का नया राज्यपाल नियुक्त किया गया है. असम के राज्यपाल जगदीश मुखी मिजोरम का अतिरिक्त प्रभार संभाल रहे थे. मलिक गोवा के राज्यपाल का प्रभार संभालेंगे. वह मृदुला सिन्हा का स्थान लेंगे.