Goa Assembly Election 2022 Date: गोवा विधानसभा चुनाव के लिए नामांकन, Voting समेत पूरा शेड्यूल पढ़ें

चुनाव आयोग ने 5 राज्‍यों के चुनाव में गोवा की 40 विधानसभा की सीटों के लिए दूसरे चरण में मतदान कराने की घोषणा की, इसी तारीख को यूपी, पंजाब और उत्‍तराखंड में भी वोट डाले जाएंगे

Published: January 8, 2022 6:42 PM IST

By Laxmi Narayan Tiwari

Goa Assembly Election 2022, Goa Assembly Election 2022 Schedule, Goa Assembly elections 2022, Goa Assembly Elections 2022 dates, Goa Elections 2022, Goa Election 2022, Goa Election 2022 Date, Goa, Goa NEWS, Goa Chunav,
दूसरे चरण में 40 विधानसभा सीटों के लिए भी चुनाव होगा.

Goa Assembly Election 2022 Date: चुनाव आयोग ने पांच राज्‍यों के घोषित 7 चरण के चुनाव प्रक्रिया में दूसरे चरण में 40 विधानसभा सीटों के लिए भी चुनाव की घोषणा की है. इलेक्‍शन कमीशन ने यूपी के अलावा तीन राज्‍यों पंजाब उत्‍तराखंड और गोवा विधानसभा के चुनाव एक साथ कराने की घोषणा की है. चुनाव आयोग के अनुसार, चुनाव के नोटिफि‍केशन, नामांकन, नामांकन की अंतिम तारीख, नामांकन पत्रों की जांच, उम्‍मीदवारी का नामांकन वापस लेने की लास्‍ट डेट, मतदान की तारीख की तारीख और चुनाव परिणामों की तारीखें इस प्रकार हैं.

Also Read:

गोवा की 40 विधानसभा सीटों के चुनाव 14 फरवरी को

मुख्य चुनाव आयुक्त सुशील चंद्रा ने उत्तर प्रदेश में 10 फरवरी को पहले चरण के मतदान होंगे, दूसरे चरण में 14 फरवरी को उत्तर प्रदेश के दूसरे चरण की सीटों के साथ साथ पंजाब, उत्तराखंड और गोवा में एक साथ मतदान होगा.

गोवा विधानसभा चुनाव का पूरा कार्यक्रम

नोटिफि‍केशन जारी होगा: 21 जनवरी (शुक्रवार) 2022 को

नामांकन की अंतिम तारीख: 28 जनवरी (शुक्रवार) 2022

नामांकन पत्रों की जांच: 29 जनवरी (शनिवार) 2022

उम्‍मीदवारी का नामांकन वापस लेने की तारीख: 31 जनवरी (सोमवार)

मतदान की तारीख: 14 फरवरी 2022

मतगणना: 10 मार्च 2022


5 राज्यों में 18 करोड़ से अधिक वोटर मताधिकार का इस्तेमाल कर सकेंगे

मुख्य चुनाव आयुक्त सुशील चंद्रा ने कहा कि 10 मार्च को 5 राज्यों के विधानसभा चुनावों की मतगणना होगी. सीईसी सुशील चंद्रा ने कहा, उत्तर प्रदेश की 403, पंजाब की 117, उत्तराखंड में 70, मणिपुर में 60 और गोवा में 40 विधानसभा सीटों के लिए चुनाव होगा. कोविड के मद्देनजर सुरक्षित चुनाव कराना हमारा लक्ष्य है. सीईसी ने कहा, इन पांच राज्यों में 18 करोड़ से अधिक मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर सकेंगे, जिनमें 8.5 करोड़ महिला मतदाता हैं. सीईसी सुशील चंद्र ने कहा, इलेक्‍शन कमीशन ऑफ‍ इंडि‍या ने अनिवार्य किया है कि कम से कम एक मतदान केंद्र का विशेष रूप से महिलाओं द्वारा प्रबंधन किया जाएगा. हर विधानसभा क्षेत्र में स्थापित हमारे अधिकारियों ने इससे कहीं अधिक की पहचान की है. विधानसभा की 690 सीटें हैं, लेकिन हम ऐसे 1620 मतदान केंद्र बना रहे हैं. मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा, कानून-व्यवस्था की स्थिति और खतरे की आशंका को देखते हुए सभी चुनावी राज्यों में पर्याप्त सीएपीएफ कंपनियां तैनात की जाएंगी.

चुनाव आयोग ने 15 जनवरी तक जनसभाओं और रोडशो पर रोक लगाई, कुछ अहम निर्देश

-निर्वाचन आयोग ने शनिवार को 5 राज्यों में विधानसभा चुनावों के कार्यक्रमों की घोषणा कर दी.
-चुनावों की घोषणा के साथ ही सभी पांच राज्यों में आदर्श चुनाव आचार संहिता प्रभावी हो गई
– देश में कोविड-19 महामारी की स्थिति को देखते हुए पांच राज्यों में होने जा रहे विधानसभा चुनाव
– चुनाव आयोग ने कोविड के चलते आगामी 15 जनवरी तक जनसभाओं, साइकिल एवं बाइक रैली और पदयात्राओं पर रोक लगा दी है.
– मुख्य चुनाव आयुक्त सुशील चंद्रा ने कहा कि 15 जनवरी के बाद स्थिति का जायजा लेने के उपरांत आयोग आगे का निर्णय लेगा.
– आयोग ने फैसला किया है कि 15 जनवरी तक लोगों की शारीरिक रूप से मौजूदगी वाली कोई जनसभा (फिजिकल रैली), पदयात्रा, साइकिल रैली, बाइक रैली रोडशो की अनुमति नहीं होगी
– चुनाव आगे चुनाव आयोग कोविड महामारी की स्थिति की समीक्षा करेगा और इसके मुताबिक निर्देश जारी करेगा.
– रात 8:00 बजे से सुबह बजे के बीच कोई सभा नहीं होगी.
– सार्वजनिक सड़कों पर कोई नुक्कड़ सभा नहीं होगी.
– चुनाव नतीजों के बाद कोई विजय जुलूस नहीं निकाला जाएगा.
– सभी राज्यों को यह हलफनामा देना होगा कि वे सभी दिशानिर्देशों का पालन करेंगे.
– कोविड दिशानिर्देशों का पालन नहीं करने वाले कानूनी कार्रवाई के भागी होंगे.
– मुख्‍य चुनाव आयुक्‍त हम सुनिश्चित कर रहे हैं कि ज्यादा से ज्यादा डिटिजल चुनाव प्रचार हो.
– सभी मतदान केंद्रों पर सैनिटाइजर और मास्क जैसी कोविड से बचाव की सुविधाएं उपलब्ध होंगी
– कोविड की स्थिति को देखते हुए मतदाता केंद्रों की संख्या बढ़ाई जाएगी.

-सभी राज्यों में सात चरणों में मतदान की प्रक्रिया संपन्न हो जाएगी.
-उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव के तहत 10 फरवरी से लेकर सात मार्च तक सात चरणों में मतदान होगा
– उत्तराखंड, पंजाब और गोवा में 14 फरवरी को एक चरण में वोट डाले जाएंगे.
– मणिपुर में दो चरणों में 27 फरवरी और तीन मार्च को मतदान होगा.
– सभी राज्यों के विधानसभा चुनाव की मतगणना 10 मार्च को होगी.

– कोरोना से बचाव संबंधी दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए चुनावी प्रक्रिया को संपन्न की जाएगी
-चुनाव इसमें हिस्सा लेने वाले सभी कर्मियों को कोविड-19 रोधी टीके की एहतियाती खुराक अनिवार्य रूप से सुनिश्चित की जाएगी।.
-सभी मतदान केंद्रों पर सैनिटाइजर और मास्क जैसी कोविड से बचाव की सुविधाएं उपलब्ध होंगी और मतदाता केंद्रों की संख्या भी बढ़ाई जाएगी।

उत्तर प्रदेश विधानसभा का कार्यकाल 14 मई को पूरा हो रहा है, जबकि उत्तराखंड और पंजाब विधानसभा का कार्यकाल 23 मार्च को समाप्त हो रहा है. गोवा विधानसभा का कार्यकाल 15 मार्च और मणिपुर विधानसभा का कार्यकाल 19 मार्च को समाप्त हो रहा है.

80 साल से अधिक उम्र के बुजुर्गों, दिव्‍यांगों और कोरोना मरीजों के लिए पोस्‍टल बैलेट से मतदान की सुविधा

कोरोना प्रभावित लोगों, 80 साल से अधिक उम्र के लोगों और दिव्यांगों के लिए पोस्टल बैलट से वोट डालने की सुविधा होगी. कोरोना नियमों के साथ चुनाव कराये जाएंगे. पोलिंग स्टेशन में 16 प्रतिशत की वृद्धि हुई है. know Your Candidate एप भी बनाया गया है, जिसमें प्रत्याशियों के बारे में सभी डिटेल होगी.

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें देश की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date: January 8, 2022 6:42 PM IST