Goa Assembly Election 2022: गोवा विधानसभा चुनाव के लिए भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने गुरुवार को अपने उम्मीदवारों की पहली सूची जारी की. BJP की पहली सूची जारी (Goa BJP List) होने और लिस्ट में अपना नाम नहीं होने से पूर्व मुख्यमंत्री लक्ष्मीकांत पारसेकर (Laxmikant Parsekar) पार्टी से नाराज हैं. गोवा में एक ही चरण में 14 फरवरी को होने वाले विधानसभा चुनाव में BJP ने दयानंद सोपटे (Dayanand Sopte) को मंडरेम विधानसभा सीट (Mandrem Assembly Seat) से टिकट दिया है. पारसेकर की नारजगी की वजह यही है और इसलिए उन्होंने अपने समर्थकों की तत्काल बैठक बुलाई है. रिपोर्ट के मुताबिक पारसेकर के BJP के गोवा घोषणापत्र के प्रभारी के रूप में पद छोड़ने की संभावना है. साथ ही वह अगले 2-3 दिनों में वह मंडरेम निर्वाचन क्षेत्र से चुनाव लड़ने का फैसला लेंगे. सूत्रों के मुताबिक पारसेकर के समर्थकों ने उन्हें BJP छोड़ने और निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ने के लिए कहा है.Also Read - G-Pay ने 30 साल की महिला के मर्डर का राज खोला, गोवा पुलिस 24 घंटे में आरोपी को अरेस्‍ट किया

मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत को सैंकलिम से उम्मीदवार बनाया गया है, जबकि उप मुख्‍यमंत्री मनोहर अजगांवकर को मडगांव से टिकट दिया है. पार्टी ने छह विधायकों के टिकट काटे हैं. महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और गोवा के लिए भाजपा के चुनाव प्रभारी देवेंद्र फडणवीस ने पार्टी महासचिव अरुण सिंह के साथ एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में यह घोषणा की. Also Read - Urfi Javed Video: ढेर सारा पैसा कमाने के लिए उर्फी जावेद ने लिया कसीनो का सहारा, जीतने पर ताबड़तोड़ बटोरने लगीं सिक्के

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा सहित पार्टी की केंद्रीय चुनाव समिति के अन्य सदस्यों ने इन नामों पर मुहर लगाई है. सिंह ने कहा कि पार्टी ने जिन 34 उम्मीदवारों के नाम तय किए हैं उनमें नौ ईसाई समुदाय के हैं जबकि तीन सामान्य सीटों पर अनुसूचित जनजाति के नेताओं को उम्मीदवार बनाया गया है. उन्होंने कहा कि पार्टी ने नौ सामान्य जाति के नेताओं को अपना उम्मीदवार बनाया है, जबकि एक पत्रकार को भी टिकट दिया गया है. सिंह के अनुसार राज्य में छह सीटें ऐसी हैं जहां से पार्टी ने नये उम्मीदवार उतारे हैं. Also Read - गोवा में 12 साल की रूसी लड़की से रेप, 28 साल का आरोपी कर्नाटक से गिरफ्तार

गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के पुत्र उत्पल पर्रिकर को पणजी सीट से टिकट नहीं दिया गया है और पार्टी ने अपने वर्तमान विधायक अतनासियो मोंटेसेरेट पर भरोसा जताया है. BJP ने मोंटेसेरेट की पत्नी को भी टिकट दिया है और उन्हें तालेगाव से टिकट दिया है. मनोहर पर्रिकर के निधन के बाद इस सीट पर हुए उपचुनाव में कांग्रेस के अतनासियो मोंटेसेरेट ने जीत दर्ज की थी. बाद में वह BJP में शामिल हो गए थे. उत्पल इसी सीट से टिकट की मांग कर रहे थे. इस बारे में पूछे जाने पर फडणवीस ने कहा कि पार्टी ने पणजी से वर्तमान विधायक मोंटेसेरेट को टिकट दिया गया है.

उन्होंने कहा, ‘वर्तमान में मोंटेसेरेट विधायक है, इसलिए उनका टिकट काटना उचित नहीं था. मनोहर पर्रिकर जी का परिवार हमारा परिवार है. उत्पल पर्रिकर से चर्चा हुई है. हमने उन्हें दो विकल्प दिए हैं. उन्होंने पहले विकल्प को खारिज कर दिया. दूसरे विकल्प पर उनसे चर्चा हो रही है. हम समझते हैं कि वह मान जाएंगे.’

(इनपुट: भाषा)