पणजी: गोवा में डिप्‍टी सीएम को महज 9 दिन में ही बर्खास्‍त कर दिया गया और बर्खास्‍तगी से पहले उनकी पार्टी के दो विधायकों की बीजेपी में एंट्री कराई गई. सत्‍ता के लिए बेहद संवेदनशील बना गोवा राज्‍य लगातार नए-नए घटनाक्रम देखता आ रहा है. इस वाकये के बाद गोवा ही नहीं देश के बहुत से लोगों के मन में सवाल था कि आखिर इसकी वजह क्‍या है. इस स्‍थ‍िति पर सफाई देते हुए गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने बुधवार को कहा कि उप मुख्यमंत्री व महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी (एमजीपी) के नेता सुदीन धवलीकर को सरकार विरोधी गतिविधियों के कारण कैबिनेट से हटाया गया है. धवलीकर के पास लोक निर्माण विभाग मंत्रालय का प्रभार भी था. यह घटनाक्रम मंगलवार आधी रात को तीन एमजीपी विधायकों में से दो के क्षेत्रीय पार्टी से अलग होकर भाजपा में शामिल होने के बाद सामने आया है . दो विधायकों में से एक दीपक पावस्कर को कैबिनेट मंत्री के तौर पर शपथ दिलाए जाने की उम्मीद है. मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने इस बात की पुष्टि की है.

राहुल गांधी ने दी गारंटी, बोले- भविष्य में कांग्रेस से और ओबीसी मुख्यमंत्री बनेंगे

इसलिए हमने यह फैसला लिया
राज्यपाल मृदुला सिन्हा से कैबिनेट से धवलीकर को बर्खास्त किए जाने की सिफारिश के बाद सावंत ने मीडियाकर्मियों से कहा, “धवलीकर को मंत्रालय से हटा दिया गया. वह सरकार विरोधी गतिविधियों में लिप्त थे. हम एक गठबंधन सरकार में हैं, लेकिन उनके भाई दीपक धवलीकरशिरोडा (विधानसभा उपचुनाव) से लड़ रहे हैं. हमने उनसे बार-बार आग्रह किया, लेकिन वह नाम वापस लेने के लिए तैयार नहीं थे, इसलिए हमने यह फैसला लिया.”

छिंदवाड़ा की जिम्मेदारी बेटे को दे रहा हूं, काम न हो तो इनके कपड़े फाड़ें: कमलनाथ

एमजीपी पर जो डकैती डाली, उससे गोवा के लोग स्तब्ध हैं
एमजीपी व बीजेपी के नेताओं के बीच बढ़ती कड़वाहट के बीच सावंत द्वारा अपने वरिष्ठतम मंत्री को हटाए जाने के धवलीकर ने कहा, “रात को चौकीदारों ने एमजीपी पर जो डकैती डाली, उससे गोवा के लोग स्तब्ध हैं. गोवा के लोग यह देख रहे हैं. इस पर क्या करना है, यह फैसला जनता लेगी.”

गोवा: मुख्‍यमंत्री प्रमोद सावंत ने उपमुख्यमंत्री सुदीन धवलीकर को हटाया

बीजेपी सरकार की सहयोगी जीएफपी की चिंता बढ़ी
एमजीपी के दो विधायकों के बीजेपी में शामिल होने के बाद गोवा सरकार में सहयोगी गोवा फारवर्ड पार्टी (जीएफपी) ने सहयोगियों में संदेह पैदा होने को लेकर बुधवार को चिंता जताई 40 सदस्यीय गोवा विधानसभा में जीएफपी के तीन विधायक हैं और वह मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत सरकार का समर्थन कर रही है.

बीजेपी से प्रस्ताव मिलने का सुशील कुमार शिंदे का दावा झूठा: विनोद तावड़े

दलबदल जारी रहा तो हम सहानुभूति खो देंगे
पार्टी अध्यक्ष और प्रदेश के उप-मुख्यमंत्री विजय सरदेसाई ने कहा कि अगर दलबदल जारी रहा तो हम सहानुभूति खो देंगे और इससे सहयोगी दलों में संदेह पैदा होगा. भविष्य में ऐसी घटनाओं से लोगों की सद्भावना कम हो जाएगी. सरदेसाई ने गेंद मुख्यमंत्री के पाले में डालते हुए कहा कि मुख्यमंत्री सरकार के प्रमुख हैं और उन्हें अपने गठबंधन की रूप-रेखा की जानकारी है. उन्हें लगता है कि मुख्यमंत्री जल्दी ही इस गठबंधन सरकार का राजनीतिक खाका स्पष्ट करेंगे.

टीपू सुल्तान की चांदी जड़ी बंदूक की ब्रिटेन में हुई नीलामी, 54.74 लाख रुपए में बिकी