पणजीः कांग्रेस की गोवा इकाई ने शनिवार को दावा किया कि मध्य प्रदेश में कमलनाथ सरकार को गिराने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लॉकडाउन की घोषणा में देरी की. प्रदेश कांग्रेस प्रमुख गिरीश चूडांकर ने अपने ट्वीट में मराठी अखबार की एक खबर का संदर्भ दिया, जिसमें दावा किया गया है कि अगर लॉकडाउन पहले ही लागू कर दिया गया होता तो आज देश में वर्तमान स्थिति नहीं होती. Also Read - Central Government Employees Bonus News: अच्छी खबर! दिवाली से पहले 30 लाख से अधिक सरकारी कर्मियों को मोदी सरकार का तोहफा, विजयादशमी पर मिलेगा बोनस

उन्होंने एक ट्वीट में कहा, ‘‘मध्य प्रदेश में कमलनाथ सरकार को गिराने के लिए नरेंद्र मोदी द्वारा लॉकडाउन की घोषणा में देरी से भारत में कोरोना वायरस की स्थिति भयावह हो गयी . भारत में कोविड-19 के बढ़ते मामलों के लिए भाजपा जिम्मेदार है . ’’ कांग्रेस के 22 बागी विधायकों के इस्तीफा देने से अपनी सरकार के अल्पमत में आने के कारण कमलनाथ ने 20 मार्च को मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री पद से त्यागपत्र दे दिया था . Also Read - प्रधानमंत्री मोदी के संबोधन पर कांग्रेस का हमला - 'देश को कोरोना का ठोस समाधान चाहिए, कोरा भाषण नहीं'

कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए प्रधानमंत्री ने 24 मार्च को तीन सप्ताह के लिए राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन की घोषणा की. इस लॉकडाउन को बाद में तीन मई तक के लिए बढ़ा दिया गया. Also Read - Bihar Opinion Poll: बिहार में किसकी बनेगी सरकार? जानिये क्या कहता है ओपिनियन पोल

आपको बता दें कि भारत में लॉकडाउन के बीच कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं अभी तक देश में 14 हजार से अधिक कोरोना के मामले सामने आ चुके हैं. इनमें से लगभग दो हजार लोग स्वस्थ्य होकर घर जा चुके हैं जबकि मरने वालों का आंकड़ा पांच सौ के करीब पहुंच गया है.