पणजी: गोवा की बीजेपी इकाई और राज्य प्रशासन द्वारा कई महीनों तक मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर की बीमारी का खुलासा नहीं करने के बाद राज्य के स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत राणे ने शनिवार को आखिरकार स्वीकार किया कि पर्रिकर अग्न्याशय कैंसर से पीड़ित हैं. मुख्यमंत्री शासन के लिए फिट हैं या नहीं जानने को लेकर विपक्ष की लगातार मांग के बीच यह टिप्पणी आई है. राज्य सरकार अब तक पर्रिकर की बीमारी को लेकर सवालों को टालती आ रही थी. स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत राणे पणजी में मीडि‍याकर्मियों से कहा, “वह गोवा के मुख्यमंत्री हैं और बात यह है कि वह स्वस्थ नहीं हैं. उन्हें अग्न्याशय कैंसर है. इस तथ्य को नहीं छुपाया जा रहा.”Also Read - कैंसर फ्री होने के बाद भी Mahesh Manjrekar को क्यों है इस बात का मलाल? बोलें- अगर ऐसा होता तो अच्छा होता

Also Read - Warning: छाती में होने वाली जलन को भूलकर भी ना करें इग्नोर, कैंसर- हर्निया के हो सकते हैं संकेत

नक्सलियों ने बारूदी विस्फोट में सीआरपीएफ वाहन उड़ाया, चार जवान शहीद, दो घायल Also Read - Lancet Study: भारत में पिछले साल कैंसर के करीब 62,000 नये मामलों के लिए शराब जिम्मेदार- अध्ययन

कांग्रेस द्वारा भाजपा नीत सरकार को पर्रिकर के स्वास्थ्य और राज्य पर शासन करने की उनकी स्थिति को साबित करने के लिए चार दिनों का समय दिए जाने के एक दिन बाद यह टिप्पणी आई है.

नेशनल हेराल्ड मामले पर संबित पात्रा ने कांग्रेस को घेरा, बोले- गांधी परिवार ने देश को लूटने का काम किया है

मंत्री राणे ने कहा, “उन्हें अपने परिवार के पास शांति से रहने दीजिए. गोवा के लोगों की सेवा करने के बाद उनके पास इतना तो अधिकार है कि अगर वह अपने परिवार के साथ कुछ समय बिताना चाहते हैं तो किसी को उनसे कुछ पूछने की जरूरत नहीं है.”

पुणे पुलिस ने रात में की सुधा भारद्वाज की सूरजकुंड से गिरफ्तारी

राणे ने कांग्रेस पर बीमार मुख्यमंत्री के स्वास्थ्य को लेकर राजनीति करने को लेकर भी निशाना साधा और कहा कि अगर कांग्रेस पर्रिकर का स्वास्थ्य जानने के लिए अदालत जाना चाहती है तो वह ऐसा करने के लिए स्वतंत्र है.

आईआरएस अधिकारी एसके मिश्रा ईडी प्रमुख बने, लेंगे करनाल सिंह की जगह