पणजी: एक किशोरी के गुमशुदा होने की रिपोर्ट उसके रिश्तेदारों ने पुलिस में दर्ज करवाई. पुलिस ने किशोरी को उसकी एक सहेली के घर से खोज निकाला लेकिन उसके बाद जब किशोरी ने अपनी आपबीती सुनाई तो लोगों के पैरों तले जमीन खिसक गई. वाकया दक्षिण गोवा का है जहां गोवा पुलिस ने किशोरी के रिश्तेदार के घर आने-जाने वाले एक 22 वर्षीय युवक को कथित रूप से उसके साथ बलात्कार करने के आरोप में गिरफ्तार किया है. पुलिस ने शनिवार को बताया कि आरोपी ने बीते छह महीने के दौरान पीड़िता के साथ उसके एक रिश्तेदार के घर पर कई बार कथित रूप से बलात्कार किया.

रूहानी इलाज के नाम पर अमानवीयता, कोर्ट के दखल के बाद दरगाह में जंजीरों से बंधे 22 मनोरोगी आजाद

माता-पिता के अलगाव के बाद आई थी रिश्तेदार के घर
उन्होंने बताया कि पीड़िता के माता-पिता कुछ महीने पहले अलग हो गए थे जिसके बाद वह कानाकोना गांव में अपनी एक रिश्तेदार के यहां रह रही थी. तभी वह आरोपी के संपर्क में आई. मुल्ज़िम की पहचान समीर वेलिप के रूप में हुई है. पुलिस के मुताबिक, वेलिप पीड़िता के रिश्तेदार के घर पर उससे बलात्कार करता था. पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि महिला को अपराध के बारे में पता था लेकिन उसने पुलिस में इसकी शिकायत नहीं की. उन्होंने कहा कि किशोरी ने तीन जनवरी की रात को अपनी रिश्तेदार को बिना सूचित करे उसका घर छोड़ दिया और अपनी एक महिला मित्र के साथ रहना शुरू कर दिया.

पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज
उसकी रिश्तेदार ने पुलिस में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई जिसके बाद पुलिस ने उसे ढूंढा और उसका बयान दर्ज किया. कोनाकोना के निरीक्षक राजेंद्र प्रभुदेसाई ने कहा, ‘‘ अपना बयान दर्ज कराने के दौरान किशोरी ने पुलिस को बताया कि पिछले महीने में आरोपी ने कई बार उसके साथ बलात्कार किया.’’ वेलिप के खिलाफ गोवा बाल अधिनियम और पॉक्सो कानून के तहत मामला दर्ज किया गया. प्रभुदेसाई ने बताया कि लड़की की रिश्तेदार के खिलाफ भी पॉक्सो कानून के तहत अपराध के लिए उकसाने का मामला दर्ज किया गया है. मामले की तहकीकात जारी है. (इनपुट एजेंसी)

UP: शहीद के पिता ने राष्ट्रपति से मांगी इच्छा-मृत्यु, शासन-प्रशासन पर उपेक्षा का आरोप