rampal resize Also Read - School Reopening Latest Update: इस राज्य में जल्द शुरू होंगे रेगुलर क्लासेज, शिक्षा मंत्री ने दिए ये संकेत

बरवाला: हरियाणा के विवादित संत रामपाल बुधवार को भी गिरफ्तारी से बचने की कोशिश कर रहे हैं। उनके बचाव में डटे सैंकड़ों भक्तों ने सुबह आश्रम छोड़ दिया है। सुरक्षा बलों और रामपाल के भक्तों के बीच मंगलवार को हुई हिंसक झड़प में करीब 250 लोगों के घायल होने के बाद सख्त पुलिस कार्रवाई के भय से रामपाल का बचाव के लिए आश्रम में डेरा डाले भक्त आश्रम छोड़कर जाने लगे हैं। Also Read - School Reopening Latest News: इस राज्य में 15 अक्टूबर के बाद फिर से खुलेंगे स्कूल, शिक्षा मंत्री ने बताई पूरी प्लानिंग

झड़प में घायल होने वालों में 110 पुलिसकर्मी भी शामिल हैं। Also Read - हरियाणा के दो स्कूलों में ट्रायल बेसिस पर शुरू होंगी 10वीं और 12वीं की कक्षाएं, जानिए क्या है प्लान

जिला प्रशासन ने बताया कि आश्रम की 20 फुट ऊंची चारदीवारी गिरा दिए जाने के बाद पांच दिनों से अंदर डेरा डाले हुए करीब 10,000 भक्त बुधवार सुबह आश्रम छोड़कर जाने लगे हैं।

एक जिलाधिकारी ने आईएएनएस को बताया, “हमने आश्रम छोड़कर जा रहे लोगों को बरवाला, हिसार और हांसी बसअड्डों और रेलवे स्टेशन तक पहुंचाने के लिए वाहनों की व्यवस्था की है।”

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि 12 एकड़ के क्षेत्र में फैले आश्रम के अंदर अब भी रामपाल के कुछ समर्थक डेरा डाले हैं। आश्रम प्रबंधन ने यद्यपि यह दावा किया है कि रामपाल आश्रम में नहीं हैं, हरियाणा के पुलिस महानिदेशक एस. एन. वशिष्ठ ने कहा कि रामपाल आश्रम के अंदर ही छिपा बैठा है।

आश्रम छोड़कर जा रहे लोगों में से ज्यादातर का कहना है कि आश्रम के स्वयंसेवकों और निजी कमांडोज ने उन्हें जबरन अंदर रोककर रखा था।

पुलिस ने रामपाल के खिलाफ मामले दर्ज किए हैं, जिन पर पहले से ही हत्या, देशद्रोह के लिए लोगों को उकसाने और न्यायालय की अवमानना के मामले दर्ज हैं।

रामपाल के समर्थकों द्वारा मंगलवार को पुलिस बल को आश्रम में घुसने से रोकने की कोशिश में दोनों पक्षों में हिंसक झड़प हुई थी।

रामपाल के भक्तों ने पुलिस पर फायरिंग, पेट्रोल बम और एसिड और ईंट-पत्थरों से हमला भी किया था।

चंडीगढ़ उच्च न्यायालय द्वारा बार-बार सम्मन भेजने के बावजूद रामपाल न्यायालय में पेश होने से बचते रहे, जिसके बाद पांच नवंबर को न्यायालय ने उनके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया।