पराक्रम दिवस के रूप में मनाई जाएगी नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती, बनाई गई उच्च स्तरीय कमेटी

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सुभाष बोस को लेकर कहा था कि नेताजी की वीरता सर्वविदित है. उन्होंने बताया था कि नेताजी जैसे स्कॉलर, सोल्जर और स्टेट्समैन की 125वीं जयंती से जुड़े कार्यक्रमों की हम जल्द ही घोषणा करेंगे.

Published: January 19, 2021 12:19 PM IST

By Avinash Rai

पराक्रम दिवस के रूप में मनाई जाएगी नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती, बनाई गई उच्च स्तरीय कमेटी

नई दिल्लीः भारत के वीर सपूत सुभाष चंद्र बोस की जयंती हर साल 23 जनवरी को मनाई जाती है. इस साल बोस की 125वीं जयंती मनाई जानी है. संस्कृति मंत्रालय द्वारा इस बात की जानकारी दी गई है. बता दें कि इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सुभाष बोस को लेकर कहा था कि नेताजी की वीरता सर्वविदित है. उन्होंने बताया था कि नेताजी जैसे स्कॉलर, सोल्जर और स्टेट्समैन की 125वीं जयंती से जुड़े कार्यक्रमों की हम जल्द ही घोषणा करेंगे.

Also Read:

बता दें कि सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती मनाने को लेकर अमित शाह की अध्यक्षता में उच्च स्तरीय समिति का गठन किया गया है. संस्कृति मंत्रालय द्वारा जारी नोटिफिकेशन के मुताबिक अगले साल 23 जनवरी से एक साल तक 125वीं जयंती के वर्ष में आयोजित किए जाने वाले कार्यक्रमों और समारोहों की रुपरेखा मंत्रालय द्वारा तय की जाएगी

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती मनाने के लिए एक उच्च स्तरीय कमेटा का गठन किया गया है. बता दें कि इस कमेटी में कई बड़े राजनेता और फिल्मी सितारों सहित कुल 82 लोग इसके सदस्य हैं. इस कमेटी में कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी और शिभेंदु अधिकारी को भी शामिल किया गया है.

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें देश की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date: January 19, 2021 12:19 PM IST