तिरुवनंतपुरम: केरल सरकार ने बृहस्पतिवार को सोना तस्करी मामले में आरोपियों से कथित रूप से तार जुड़े होने के सिलसिले में वरिष्ठ आईएएस अधिकारी एम शिवशंकर को जांच चलने के बीच निलंबित कर दिया. वहीं, इस मामले में मुख्य गवाह यूएई वाणिज्य दूतावास में तैनात अधिकारी अपने देश रवाना हो गया है. Also Read - Kerala Couple Photoshoot Viral: इस कपल के बोल्ड फोटोशूट ने जंगल से लेकर सोशल मीडिया तक मचाई सनसनी, आप भी देखें रोमैंटिक तस्वीरें

इससे पहले मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने यहां पत्रकार वार्ता में शिवशंकर के निलंबन की घोषणा की. शिवशंकर के तार कथित तौर पर मामले के आरोपियों से जुड़े होने की खबरें सामने आने के बाद उन्हें मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव और आईटी सचिव पद से भी हटा दिया गया था. Also Read - Gold Price Today 19 October 2020: नौ सप्ताह से सोने के भाव में जारी है गिरावट, दिवाली तक और नीचे जा सकते हैं दाम, अभी खरीदारी से बचें

मुख्य सचिव डॉ विश्वास मेहता की अध्यक्षता वाली उच्चस्तरीय समिति को सरकार ने आरोपों की पड़ताल करने और तीन दिन के भीतर रिपोर्ट देने को कहा था. सरकार को आज शाम रिपोर्ट दी गयी जिसके बाद कार्रवाई की गयी. Also Read - सरकार ने पहली बार माना, 'कुछ जिलों में हुआ कोरोना वायरस का सामुदायिक संक्रमण'

विजयन के अनुसार समिति ने पाया कि शिवशंकर ने अखिल भारतीय सेवा के नियमों की अवज्ञा की. उन्होंने कहा कि विभाग स्तरीय जांच जारी है. कुछ दिन पहले ही सीमाशुल्क अधिकारियों ने मामले के सिलसिले में शिवशंकर से करीब नौ घंटे तक पूछताछ की थी.

इस घटनाक्रम से जुड़े सूत्रों ने बताया कि वियना संधि के तहत छूट प्राप्त वाणिज्य दूतावास का अधिकारी रविवार को यहां से दिल्ली पहुंचा और वहां से एक अन्य उड़ान में सवार होकर संयुक्त अरब अमीरात रवाना हो गया.