नई दिल्लीः दिल्ली के रोहिणी इलाके में रहने वाले सुनार दंपति को कारीगरों पर विश्वास करना महंगा पड़ गया. 20 साल में जीते विश्वास को कारीगरों ने चंद लम्हों में खो दिया और करीब 1 करोड़ 80 लाख का सोना लेकर भाग गए. इस सिलसिले में पुलिस ने मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है. गायब किए गए सोने का अनुमानित वजन 5 किलोग्राम बताया जाता है.

घटना के बारे में पीड़ित दंपति ने पुलिस को जानकारी दी. पीड़ित दंपति का नाम तिलकराज और रीता लूथरा है. लूथरा दंपति मध्य दिल्ली जिले के रैगरपुरा (करोलबाग) इलाके में रहने वाले कारीगरों से सोने के जेवरात करीब 20 साल से बनवा रहे थे. सुनार दंपति का सोने के जेवरात का रोहणी इलाके में कारोबार है.

Video: बेटी समायरा के लिए हिटमैन रोहित शर्मा बने रैपर, वीडियो देख आप भी हो जाएंगे खुश

घटनाक्रम के मुताबिक, हर बार की तरह लूथरा दंपति ने करीब पांच किलो सोना जेवरात बनाने के लिए चारों पुराने कारीगरों को सौंपा था. 27 अक्टूबर यानी दिवाली वाले दिन ये जेवरात दंपति को मिलने थे. लूथरा दंपति एक और व्यापारी अर्पित गुप्ता के साथ जब जेवर लेने गया तो चारों कारीगर मौके से गायब थे और सबके मोबाइल भी बंद मिले.

फरार हुए कारीगरों के रिश्तेदारों ने भी कोई खास जानकारी नहीं दी. कुछ रिश्तेदार तो घरों से ही गायब मिले. अंतत: परेशान होकर इस मामले में बुधवार को पीड़ितों ने करोलबाग पुलिस को घटना की जानकारी दी. पुलिस ने मामला दर्ज करके छानबीन शुरू कर दी है.