नई दिल्ली: केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने आज कहा कि उनका मंत्रालय वर्ष 2018 में अल्पसंख्यक समुदायों के 15 हजार से अधिक लड़के-लड़कियों को यूपीएससी और कई अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए मदद मुहैया कराएगा. नकवी ने सिविल सेवा 2017 में अल्पसंख्यक मंत्रालय की फ्री-कोचिंग प्राप्त कर सफल अभ्‍यर्थियों को आज सम्मानित किया. Also Read - प्रतियोगी परीक्षाओं में नकल कराने वाले गिरोह के पांच सदस्य गिरफ्तार, तलाशी में मिला ये सामान

Also Read - JEE, NEET और UGC NET के लिए 2019 से फ्री कोचिंग देगी सरकार, 1 सितंबर से रजिस्ट्रेशन शुरू

लोकसभा चुनाव 2019: यूपी के करीब 16 लाख कर्मचारियों को ये बड़ा तोहफा देने जा रही योगी सरकार Also Read - देश के लोकतांत्रिक इतिहास का बदनुमा दौर था आपातकाल: नकवी

इस अवसर पर केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने पत्रकारों से कहा कि अल्पसंख्यक मंत्रालय प्रतिभाओं के “प्रोत्साहन, प्रमोशन एवं प्रोग्रेस” के लिए बड़े पैमाने पर पुख्ता प्रयास कर रहा है ताकि कोई भी प्रतिभाशाली युवा सिविल सेवा, मेडिकल, इंजीनियरिंग, अन्य प्रशासनिक सेवाओं, बैंकिंग आदि परीक्षाओं में पास हो कर बेहतर नौकरी प्राप्त करने से वंचित ना रह सके. उन्होंने कहा कि अल्पसंख्यक मंत्रालय विभिन्न प्रतिष्ठित संस्थानों के साथ मिल कर प्रतिभावान युवाओं को सिविल सेवा, मेडिकल, इंजीनियरिंग, अन्य प्रशासनिक सेवाओं, बैंकिंग आदि के लिए बड़े पैमाने पर फ्री-कोचिंग मुहैया करा रहा है. इस वर्ष भी देश भर से 15 हजार से ज्यादा युवाओं को फ्री-कोचिंग दी जाएगी.

यूपी के 2.10 करोड़ बिजली उपभोक्‍ताओं के लिए GOOD NEWS, कनेक्‍शन के समय जमा सिक्‍योरिटी पर मिलेगा ब्‍याज

अल्‍पसंख्‍यक समाज से सिविल सर्विस में चुने गए 131 युवा

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार की बिना भेदभाव के “सम्मान के साथ सशक्तिकरण” की नीति का नतीजा है कि सिविल सर्विस में आजादी के बाद इस वर्ष सर्वाधिक अल्पसंख्यक समाज के 131 युवा चुने गए हैं, जिनमें 51 मुस्लिम समाज से हैं. नकवी ने सिविल सेवा परीक्षा में चयनित शेख सलमान, मोहम्मद नूह सिद्दीकी, सैयद अली अब्बास, जुनैद अहमद, मोहम्मद नदीम, फुरकान अख्तर, फजीजुल हसन को सम्मानित किया.