Google, Facebook, Twitter, Instagram News Update: सूचना और प्रौद्योगिकी (Information and Technology) पर संसदीय समिति ने गूगल और फेसबुक को स्पष्ट कहा है कि उन्हें नए आईटी नियमों और देश के कानूनों का पालन करना ही होगा. न्यूज एजेंसी एएनआई ने आज मंगलवार को सूत्रों के हवाले से ये जानकारी दी. इसमें सरकार ने कहा कि कंपनियां डेटा सिक्योरिटी और प्राइवेसी के नियमों का सख्ती से पालन करें.Also Read - घर बैठे धुंआधार कमाई, मार्क जुकरबर्ग ने खुद बताया फेसबुक-इंस्टाग्राम से पैसे कमाने का तरीका

देश में लागू हुए आईटी नियमों पर सरकार और सोशल मीडिया कंपनियों के बीच तनातनी के बीच आज 29 जून को दोनों पक्षों के बीच एक बैठक बुलाई गई थी. बताया गया कि इस बैठक में सरकार ने कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद और कांग्रेस सांसद शशि थरूर के अकाउंट लॉक करने के संबंध में ट्विटर को दो दिन में जवाब देने को कहा है. Also Read - Facebook पर लॉगइन करना पड़ रहा महंगा? साइबर ठगों ने ढूंढ़ा हैकिंग का नया तरीका

इससे पहले सूचना प्रौद्योगिकी पर संसद की स्थायी समिति (आई एंड टी) ने फेसबुक इंडिया और गूगल इंडिया के प्रतिनिधियों को समन जारी करके समिति के सामने पेश होने को कहा. समिति नागरिकों के अधिकारों की रक्षा और उनकी रोकथाम पर कंपनियों के प्रतिनिधियों से सोशल ऑनलाइन समाचार मीडिया प्लेटफॉर्म के दुरुपयोग की रोकथाम पर उनके विचार जानने के लिए ये समन भेजा. Also Read - अब Twitter पर शब्द नहीं पड़ेंगे कम, जल्द ही ब्लॉग लिखने की मिल सकती है छूट

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और लोकसभा सदस्य शशि थरूर समिति के अध्यक्ष हैं, जिसमें 31 सदस्य शामिल हैं जिसमें 21 लोकसभा से और 10 राज्यसभा के सदस्य हैं. बैठक के कार्यक्रम में उल्लेख किया गया कि ये बैठक नागरिकों के अधिकारों की रक्षा और डिजिटल स्पेस में महिला सुरक्षा पर विशेष जोर देने सहित सोशल ऑनलाइन समाचार मीडिया प्लेटफार्मों के दुरुपयोग की रोकथाम विषय पर फेसबुक इंडिया और गूगल इंडिया के प्रतिनिधियों के विचारों को सुनने के लिए बुलाई गई.

अब 6 जुलाई को अपनी अगली बैठक में इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के प्रतिनिधि समिति के समक्ष विषय से संबंधित साक्ष्य प्रस्तुत करेंगे. मालूम हो कि इस साल जनवरी में, समिति ने फेसबुक और ट्विटर के अधिकारियों को सोशल मीडिया या ऑनलाइन समाचार प्लेटफार्मों के दुरुपयोग पर सवाल करने के लिए समन जारी किया था. समिति ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर राजनीतिक पूर्वाग्रह के मुद्दे पर फेसबुक के भारत प्रमुख अजीत मोहन से भी पूछताछ की है. (एजेंसी इनपुट्स)