लखनऊ। राष्ट्रीय लोकदल (रालोद) ने फूलपुर और गोरखपुर में होने वाले लोकसभा के उपचुनाव में समाजवादी पार्टी के प्रत्याशियों को समर्थन देने का फैसला लिया है. पार्टी द्वारा सोमवार को जारी एक बयान में कहा गया कि रालोद के राष्ट्रीय अध्यक्ष अजित सिंह ने भाजपा की केन्द्र और प्रदेश सरकार द्वारा किसानों से वादाखिलाफी और शोषण के खिलाफ और साम्प्रदायिकता के फैलाव को रोकने के लिए विपक्षी एकता की पहल को मजबूत करने के उद्देश्य से आगामी 11 मार्च को प्रदेश के फूलपुर और गोरखपुर में होने जा रहे लोकसभा के उपचुनाव में समाजवादी पार्टी के प्रत्याशियों को समर्थन देने का निर्णय लिया है. Also Read - भाजपा का बड़ा आरोप, कांग्रेस ने जमात-ए-इस्लामी, पीएफआई जैसे संगठनों से समझौते किए

Also Read - उद्धव का भाजपा से सवाल, 'बिहार के लिए टीका मुफ्त, बाकी राज्यों के लोग क्या बांग्लादेश से आये हैं'

साथ ही आगामी राज्यसभा और विधान परिषद के चुनाव में भी सपा और बसपा के पक्ष में मतदान करने का फैसला लिया है. राष्ट्रीय लोकदल के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी अनिल दुबे ने बयान में कहा कि प्रदेश में यह समर्थन किसान और नौजवान विरोधी ताकतों के सफाया करने का काम करेगा. Also Read - भतीजे ने चाची को बनाया गर्लफ्रेंड, लेकर भागा, परेशान चाचा बोले...

यह भी पढ़ें- फूलपुरः पहले प्रधानमंत्री नेहरू से लेकर बाहुबली अतीक अहमद तक रहे हैं सांसद, जानें 10 बातें

बसपा अध्यक्ष मायावती ने रविवार को राज्यसभा और प्रदेश विधान परिषद के आगामी चुनावों में सपा और कांग्रेस के साथ ‘सहयोग’ के दरवाजे खोल दिए. मायावती ने कहा कि गोरखपुर और फूलपुर उपचुनाव में बसपा ने कोई प्रत्याशी नहीं उतारा है लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि पार्टी के लोग अपना वोट नहीं डालेंगे. वे अपने मताधिकार का ‘सही’ इस्तेमाल करेंगे.

उनके पूर्व में दिए गये निर्देशों के मुताबिक, जो भी दूसरा उम्मीदवार भाजपा को हराने की स्थिति में होगा, बसपा के लोग उसे ही वोट देंगे. इसमें कुछ भी गलत नहीं है. उन्होंने यह भी कहा कि उत्तर प्रदेश में आगामी राज्यसभा और विधान परिषद के चुनाव में भाजपा को हराने के लिए अगर सपा या बसपा के विधायक अपना वोट ‘ट्रांसफर’ कर देते हैं, तो भी यह चुनावी गठबंधन नहीं माना जाएगा.

यह भी पढ़ें- यूपी उपचुनाव में सपा का समर्थन करेगी बीएसपी, 2019 के लिए गठबंधन नहीं

बता दें कि फूलपुर से केशव प्रसाद मौर्य और गोरखपुर से योगी आदित्यनाथ के इस्तीफा देने के बाद उपचुनाव होना है. फूलपुर और गोरखपुर लोकसभा सीट पर 11 मार्च को उपचुनाव है और 14 मार्च मतगणना कर नतीजे घोषित किए जाएंगे. बीजेपी ने फूलपुर लोकसभा सीट के लिए कौशलेंद्र पटेल को अपना उम्मीदवार बनाया है. तो वहीं सपा ने नागेंद्र पटेल पर दांव लगाया है. जबकि कांग्रेस ने मनीष मिश्रा को मैदान में उतारा है. बाहुबली और सपा के पूर्व सांसद अतीक अहमद ने निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर फूलपुर लोकसभा सीट पर नामांकन दाखिल किया है.

भाषा इनपुट