संसद के मानसून सत्र का आगाज सोमवार से होने जा रहा है और सरकार वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) विधेयक पारित कराने की संभावना को लेकर आशावादी रुख अपनाए नजर आ रही है। सबकी निगाह रविवार को होने वाली सर्वदलीय बैठक पर लगी है। लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने सर्वदलीय बैठक बुलाई है। Also Read - आंगनवाड़ी और आशा कर्मियों का बढ़ेगा वेतन? संसद में उठी 15 हजार और 10 हजार रुपये मानदेय करने की मांग...

केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली की गुरुवार को राज्यसभा के विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद और उपनेता आनंद शर्मा से मुलाकात के बाद सरकार के प्रबंधकों को उम्मीद है कि जीएसटी विधेयक संसद के दोनों सदनों में आसानी से पारित हो जाएगा। Also Read - Parliament Monsoon Session: समय से 8 दिन पहले ही आज खत्म हो सकता है संसद का मॉनसून सत्र, यह है वजह...

यह भी पढ़ेंः Also Read - संसद सत्र: भाभी जी के पापड़ पर मचा संग्राम, संजय राउत के तंज पर BJP ने दिया करारा जवाब

खासकर राज्यसभा से जहां संख्याबल से कांग्रेस अब तक इस विधेयक को रोके रखने में कामयाब रही है। हालांकि कांग्रेस की ओर से अभी तक इस बारे में अंतिम तौर पर कुछ नहीं कहा गया है। सरकारी पक्ष का कहना है आजाद और शर्मा से उसकी बातचीत अच्छी रही थी।

सूचना एवं प्रसारण मंत्री एम वैंकेया नायडू ने कहा कि सरकार जीएसटी पास कराने को लेकर बेहद उत्सुक है। हम आश्वस्त हैं कि सोमवार से शुरू हो रहे मानसून सत्र में जीएसटी पास करा लिया जाएगा। गौरतलब है कि जीएटी विपक्ष के विरोध के चलते लंबे समय से अटका पड़ा है। शुक्रवार को कांग्रेस ने इसके लिए रणनीतियों पर चर्चा की।