नई दिल्ली: देश भर में नागरिकता कानून पर मचे बवाल के बीच सरकार ने जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाने पर विचार शुरू कर दिया है. इस सिलसिले में नीति आयोग शुक्रवार को जनसंख्या नियंत्रण पर एक महत्वपूर्ण बैठक कर रहा है. बैठक में जनसंख्या नियंत्रण का मसौदा तैयार किया जाएगा. माना जा रहा है कि आज हो रही इस बैठक में परिवार नियोजन को और प्रभावी बनाने के तौर-तरीकों पर भी विचार हो सकता है. हालांकि आयोग ने कहा है कि गर्भ निरोधक के विकल्प को बढ़ावा देने और इस बाबत सूचनाओं को महिलाओं तक पहुंचाने पर विचार-विमर्श होगा.

लेकिन आज की बैठक में जनसंख्या नियंत्रण और परिवार नियोजन को और भी सशक्त बनाए जाने पर चर्चा होगी. नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार के मुताबिक, यह सिर्फ एक सुझाव देने के लिए बैठक बुलाई गई है. आयोग के मुताबिक भारत में जन्मदर तो कम हो रही है, लेकिन जनसंख्या में बेतहाशा वृद्धि हो रही है.

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मोदी ने इसी साल अपने लालकिला से दिए भाषण में जनसंख्या नियंत्रण का मुद्दा प्रमुखता से उठाया था. प्रधानमंत्री ने कहा था कि भारत की जनसंख्या तकरीबन 1.37 अरब है, जो विश्व में दूसरे स्थान पर है. जाहिर है कि जनसंख्या नियंत्रण पर नीति बनाना मोदी सरकार की प्राथमिकता में है. आज की बैठक में सिर्फ इस मुद्दे पर विचार होगा और निष्कर्ष की जानकारी सरकार को दी जाएगी.

(इनपुट-आईएएनएस)