नई दिल्लीः विदेश मंत्रालय के अधिकारियों ने मंगलवार को कहा कि वे इसकी पुष्टि नहीं कर सकते कि क्या ईरान में 250 से अधिक भारतीयों की कोरोना वायरस की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है. हालांकि अधिकारियों ने यह स्वीकार किया कि ऐसे लोगों की एक सूची प्रसारित होने के बारे में वे अवगत हैं. Also Read - कोरोना: करीब 1900 हुई मरीजों की संख्या, अब तक 55 मौतें, एशिया के सबसे बड़े स्लम एरिया धारावी पहुंचा संक्रमण

मंगलवार शाम में कोरोना वायरस को लेकर आयोजित एक अंतर मंत्रालयीय प्रेस ब्रीफिंग में विदेश मंत्रालय में अतिरिक्त सचिव डी रवि से ईरान में भारतीयों की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बारे में कई बार सवाल किये गए. रवि ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘निश्चित तौर पर इस तरह की स्थिति में जब ईरान में वायरस का संक्रमण इतना फैला हुआ है तो आपको भारतीय तीर्थ यात्रियों में कुछ पॉजिटिव मामले मिलेंगे.’’ उन्होंने कहा, ‘‘हालांकि इसको लेकर आश्वस्त करते हैं कि वहां भारतीयों की सुरक्षा को लेकर ईरान सरकार के साथ मिशन पूरा सहयोग और समन्वय कर रहा है. राजदूत उन पर काफी ध्यान दे रहे हैं.’’ Also Read - कोविड-19: पीएम मोदी ने बताए स्वस्थ रहने के नुस्खे, कहा- साल भर गर्म पानी पीता हूं और...

मीडिया की खबरों में इस दावे के बारे में पूछे जाने पर कि ईरान में 250 से अधिक भारतीयों की कोरोना वायरस की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है, उन्होंने कहा, ‘‘इसकी पुष्टि नहीं कर सकते कि ईरान में 250 से अधिक भारतीय‍ जांच में कोरोना वायरस से संक्रमित पाये गए हैं. हम यह भी पुष्टि नहीं कर सकते कि क्या ऐसी प्रसारित हो रही सूची असली है या नहीं.’’ Also Read - महाराष्ट्र में बढ़ रहा कोरोना: 6 दिन का बच्चा भी आया चपेट में, मरने वालों की संख्या 16 पहुंची

उन्होंने यद्यपि कहा कि यह संभव नहीं है कि सभी भारतीय तीर्थयात्रियों की जांच रिपोर्ट नकारात्मक आये क्योंकि वे कोम में हैं. सूत्रों ने कहा कि तेहरान में भारतीय मिशन के संबंध में स्थिति पर ‘‘नजदीकी नजर’’ रखी जा रही है. उन्होंने कहा कि मिशन के कर्मचारियों को वहां से निकालने की फिलहाल कोई योजना नहीं है और ‘‘जैसा जरूरी होगा कदम उठाये जाएंगे.’’