श्रीनगर: सैन्य अधिकारियों ने कहा कि जम्मू-कश्मीर सरकार के आदेश के बावजूद सेना ने सोमवार को काफिला भेजा. जम्मू-कश्मीर सरकार ने कहा था कि वाहनों की ऐसी आवाजाही सिर्फ हफ्ते में दो दिन- रविवार और बुधवार को होनी चाहिए, लेकिन इस आदेश के बाद भी सेना ने इस आदेश को मानने से इंकार कर दिया. नाम न जाहिर करने की शर्त पर एक अधिकारी ने कहा कि आदेश से सैन्य संचालन बाधित होगा. अधिकारियों ने दावा किया कि सुरक्षा बलों के काफिले की आवाजाही को लेकर आदेश जारी किये जाने से पहले संबंधित सैन्य अधिकारियों से कोई परामर्श नहीं किया गया.

सेना ने कहा- ऐसा आदेश लागू करना संभव नहीं
काफिले के संचालन से संबंधित एक अधिकारी ने कहा, “अनौपचारिक बातचीत के दौरान, राज्य सरकार के अधिकारियों को यह स्पष्ट कर दिया गया था कि ऐसा आदेश लागू करना संभव नहीं है.” राज्य के गृह सचिव शालीन काबरा ने बीवीआर सुब्रमण्यम के निर्देश पर तीन अप्रैल को यह आदेश जारी किया था जिसमें जम्मू क्षेत्र के उधमपुर से उत्तरी कश्मीर के बारामूला में सामान्य यातायात को हर हफ्ते रविवार और बुधवार को 31 मई तक बंद रखे जाने की बात थी जिससे इन दो दिनों में सुरक्षाबलों के काफिले का सुगम आवागमन सुनिश्चित हो सके. सोमवार को राष्ट्रीय राजमार्ग पर सैन्य काफिला भेजा गया और कुछ जगहों पर सीआरपीएफ के वाहन भी देखे गए. सेना की 15वीं कोर के जिम्मे ही आतंकवाद-निरोधी अभियान भी हैं. जम्मू कश्मीर पुलिस और राज्य व केंद्र की दूसरी सुरक्षा एजेंसियों को भी प्रदेश के गृह विभाग द्वारा जारी इस आदेश के बारे में संभ‍वत: जानकारी नहीं थी.

पीएम तो मेरे परिवार से भी कुछ लोग रहे, लेकिन देश को सम्मान नरेंद्र मोदी ने दिलाया: वरुण गांधी

उमर अब्दुल्ला ने कहा- दिमाग का इस्तेमाल नहीं किया
जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने सोमवार को सेना के काफिले की आवाजाही की एक तस्वीर भी जारी की जबकि सड़क के दूसरी तरफ सामान्य यातायात आम दिनों की तरह चल रहा था. उन्होंने राज्य प्रशासन पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया, “यहां एक और पूर्ण काफिला है. मैं सिर्फ इस बात को रेखांकित करना चाहता हूं कि राजमार्ग को बंद करने वालों ने दिमाग का कोई इस्तेमाल नहीं किया. किसी तरह यह काफिला आज राजमार्ग पर महफूज है लेकिन यह कल (रविवार को) नहीं होता और बुधवार को नहीं होता.” बता दें कि पुलवामा हमले के बाद एहतियात के तौर पर ये आदेश दिया गया था.

इनपुट: एजेंसी