दिल्ली: पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की सुरक्षा से एसपीजी हटाए जाने के केंद्र सरकार के फैसले पर नाराजगी जताते हुए लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने सोमवार को कहा कि सुरक्षा कवर को चुनिंदा ढंग से नहीं हटाया जाना चाहिए. चौधरी ने कहा, ‘‘मेरा मानना है कि सुरक्षा कवर चुनिंदा ढंग से नहीं हटाया जाना चाहिए. सुरक्षा कवर सिर्फ इस वजह से नहीं हटाया जाना चाहिए कि मनमोहन सिंह कांग्रेस की सरकार में प्रधानमंत्री थे.’’ उन्होंने कहा कि 10 वर्षों के शासनकाल के दौरान संप्रग सरकार में सभी पूर्व प्रधानमंत्रियों को एसपीजी सुरक्षा कवर मिला.

चौधरी ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री पद से हटने के बाद सिंह ने कभी सुरक्षा कवर नहीं मांगा और भविष्य में मांगेगे भी नहीं. यह सरकार का फैसला था.’’ गौरतलब है कि सरकार ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को दी जा रही एसपीजी सुरक्षा वापस ले ली है. सिंह को ‘जेड प्लस’ सुरक्षा मिलती रहेगी.

मनमोहन सिंह की SPG सुरक्षा हटी, अब पीएम मोदी सहित सिर्फ 4 VVIP को ऐसी सिक्योरिटी

अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि 2004 से 2014 तक देश के प्रधानमंत्री रहे सिंह से एसपीजी सुरक्षा वापस लेने का फैसला विभिन्न सुरक्षा एजेंसियों द्वारा समीक्षा किए जाने के बाद किया गया है. ‘जेड प्लस’ सुरक्षा केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल (सीएपीएफ) द्वारा दिए जाने वाले उच्चतम सुरक्षा कवर में से एक है.