कोलकाता: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शनिवार को दावा किया कि उनका फोन टैप किया गया और उनके पास इस आरोप को साबित करने के लिए सबूत मौजूद है. बनर्जी ने राज्य सचिवालय नबन्ना में मीडियाकर्मियों से कहा, “मेरा फोन टैप किया गया, मुझे पता है. चूंकि मुझे जानकारी मिली है, इसलिए मेरे पास सबूत है.” यह पूछे जाने पर कि क्या वह इस मामले को केंद्र के साथ उठाएंगी? बनर्जी ने कहा, “वहां उठाने के लिए क्या है? सरकार को तो पता है. सरकार ने ही तो कराया है यह.”

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शनिवार को कहा कि वाट्सएप द्वारा इजराइली स्पाइवेयर पेगासस के जरिए जासूसी किए जाने की बात स्वीकार किए जाने की केंद्र को जांच करनी चाहिए. उन्होंने जासूसी विवाद में केंद्र सरकार की भूमिका की आलोचना की और आरोप लगाया कि वह मैसेजिंग प्लेटफॉर्म पर सुरक्षा उल्लंघन से पूरी तरह से अवगत थी.ममता ने इस मुद्दे को ‘बहुत गंभीर’ बताया और कहा कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से इस मामले की जांच कराने का अनुरोध करेंगी.

ममता बनर्जी ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘हमारी बोलने की स्वतंत्रता कहां है? हम किस आजादी में जी रहे हैं कि आज हम (स्वतंत्र रूप से फोन पर) बात भी नहीं कर सकते….’’ उन्होंने कहा, ‘‘अब कुछ भी सुरक्षित नहीं है, व्हाट्सएप भी नहीं. इससे पहले, हमने सोचा था कि व्हाट्सएप की जासूसी नहीं की जा सकती. लेकिन, अब व्हाट्सएप को भी नहीं बख्शा गया है. न तो लैंडलाइन फोन और न ही मोबाइल फोन सुरक्षित हैं. ’’

(इनपुट भाषा)