नई दिल्ली. भारतीय वायु सेना अपने लड़ाकू विमानों को और अधिक शक्तिशाली बनाने की कोशिश के तौर पर सुखोई 30एमकेआई (Sukhoi 30 MKI) को इजरायल की स्पाइस-2000 लेजर निर्देशित बमों से लैस करने की प्रक्रिया में है. आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी. अभी भारतीय वायु सेना के मिराज-2000 विमान स्पाइस-2000 बमों से लैस हैं और इन विमानों का हाल ही में पाकिस्तान में आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के बड़े आतंकी शिविर पर हमला करने के लिए इस्तेमाल किया गया था.

एयर स्ट्राइक पाकिस्तान में हुई, लेकिन सदमा भारत में बैठे कुछ लोगों को लगा है: पीएम मोदी

आधिकारिक सूत्रों ने बताया, ‘‘भारतीय वायु सेना अपने लड़ाकू विमानों को और शक्तिशाली बनाने के लिए सुखोई-30एमकेआई को इजरायल के स्पाइस-2000 बमों से लैस करने की प्रक्रिया में है.’’ यह कदम भारत और पाकिस्तान के बीच बढ़े तनाव के बाद सामने आया है. आपको बता दें कि बीते दिनों पीएम नरेंद्र मोदी ने अहमदाबाद में एक कार्यक्रम में कहा था कि पाकिस्तान में चल रहे आतंकी ठिकानों को तबाह करने के लिए भारत और कड़े कदम उठाएगा. पीएम मोदी ने दुश्मन देश को चेतावनी दी थी कि वह आतंकियों को घर में घुसकर मारेंगे. मोदी के इस बयान को एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान के खिलाफ और कड़ी कार्रवाई के संकेत के तौर पर लिया जा रहा है.

एक और आतंकी हमला होने की स्थिति में भारत के पास सारे विकल्प मौजूद: आधिकारिक सूत्र

गौरतलब है कि पिछले महीने 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए एक आत्मघाती आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 से ज्यादा जवानों को शहादत देनी पड़ी थी. इसके बाद भारत ने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर के बालाकोट में एयर स्ट्राइक किया था. इसके तहत भारतीय वायुसेना के 12 मिराज विमानों ने पुलवामा आतंकी हमले के लिए जिम्मेदार आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों पर एक हजार किलो बम गिराए थे. सरकार ने बताया था कि इजरायल में बने इन स्पाइस-2000 बमों ने जैश के ठिकानों को तबाह कर दिया था.