नई दिल्ली: विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि सरकार ई-पासपोर्ट जारी करने की सुविधा मुहैया कराने पर तेजी से काम कर रही है और इसके पहले चरण में 2.2 करोड़ ई पासपोर्ट जारी करने का लक्ष्य है. इसके तहत पुख्ता सुरक्षा उपायों वाले इलेक्ट्रॉनिक चिप आधारित ई पासपोर्ट जारी करने की योजना है. जयशंकर ने गुरुवार राज्यसभा में प्रश्नकाल के दौरान ई-पासपोर्ट से जुड़े एक सवाल के जवाब में यह जानकारी दी . Also Read - DGCA ने इंटरनेशनल फ्लाइट्स पर अगले महीने तक लगाई रोक

एक पूरक प्रश्न के उत्तर में उन्होंने बताया कि ई पासपोर्ट में आवेदक की निजी जानकारियों से जुड़े दस्तावेज आवेदक के डिजिटल हस्ताक्षर से प्रमाणित होंगे. ये जानकारियां पासपोर्ट की चिप में संरक्षित होंगी. यह चिप मौजूदा पासपोर्ट की पुस्तिका पर चस्पां होगी. चिप के साथ छेड़छाड़ होने पर पासपोर्ट का प्राधिकार खत्म हो जाएगा. Also Read - देश के इस राज्‍य में कोरोना वायरस के संक्रमण से अब हुई पहली मौत

विदेश मंत्री ने बताया कि ई पासपोर्ट सेवा शुरू करने की प्रक्रिया अपने अंतिम दौर में है. इस बाबत निविदा प्रक्रिया पूरी होने वाली है. पहले चरण में लगभग 2.2 करोड़ ई-पासपोर्ट जारी करने का लक्ष्य तय किया गया है. Also Read - नेपाली राष्‍ट्रपति भारत के आर्मी चीफ को 'नेपाल सेना के जनरल' का मानद पद प्रदान करेंगी