नई दिल्ली: विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि सरकार ई-पासपोर्ट जारी करने की सुविधा मुहैया कराने पर तेजी से काम कर रही है और इसके पहले चरण में 2.2 करोड़ ई पासपोर्ट जारी करने का लक्ष्य है. इसके तहत पुख्ता सुरक्षा उपायों वाले इलेक्ट्रॉनिक चिप आधारित ई पासपोर्ट जारी करने की योजना है. जयशंकर ने गुरुवार राज्यसभा में प्रश्नकाल के दौरान ई-पासपोर्ट से जुड़े एक सवाल के जवाब में यह जानकारी दी .

एक पूरक प्रश्न के उत्तर में उन्होंने बताया कि ई पासपोर्ट में आवेदक की निजी जानकारियों से जुड़े दस्तावेज आवेदक के डिजिटल हस्ताक्षर से प्रमाणित होंगे. ये जानकारियां पासपोर्ट की चिप में संरक्षित होंगी. यह चिप मौजूदा पासपोर्ट की पुस्तिका पर चस्पां होगी. चिप के साथ छेड़छाड़ होने पर पासपोर्ट का प्राधिकार खत्म हो जाएगा.

विदेश मंत्री ने बताया कि ई पासपोर्ट सेवा शुरू करने की प्रक्रिया अपने अंतिम दौर में है. इस बाबत निविदा प्रक्रिया पूरी होने वाली है. पहले चरण में लगभग 2.2 करोड़ ई-पासपोर्ट जारी करने का लक्ष्य तय किया गया है.