नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने मंगलवार को कहा कि कोविड-19 महामारी के मद्देनजर केंद्र सरकार भारत में फिल्मों की शूटिंग के लिए एक मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) लेकर आने वाली है. साथ ही सरकार फिल्म निर्माण को गति देने के लिए प्रोत्साहन राशि भी देगी.Also Read - ब्रिटेन की स्टडी में दावा- वैक्सीन की दोनों डोज ले चुके लोगों में कोरोना संक्रमण का खतरा तीन गुना तक कम

सूचना एवं प्रसारण मंत्री ने ये बातें फिक्की की ओर से आयोजित ”फिक्की फ्रेम्स 2020” के उद्घाटन सत्र में कहीं. मीडिया और मनोरंजन को भारत की सौम्‍य शक्ति यानी ‘सॉफ्ट पावर’ बताते हुए उन्होंने कहा कि आगे बढ़ने के लिए सभी हितग्राहियों को साथ मिलकर काम करने की आवश्यकता है. Also Read - Extra Marital Affair: पति-पत्‍नी, लेकिन दोनों के प्‍यार की राहें जुदा, कैब में कराया मर्डर

जावड़ेकर ने कहा, ”कोरोना महामारी के मद्देनजर सरकार फिल्मों की शूटिंग को लेकर एक मानक संचालन प्रक्रिया लेकर आ रही है.” Also Read - Coronavirus cases In India: 1 दिन में कोरोना से लगभग 43 हजार लोग हुए संक्रमित, 533 लोगों की हुई मौत

केंद्रीय मंत्री ने कहा, ”फिल्म निर्माण का काम जो कोरोना संक्रमण की वजह से ठहर गया था, उस तेजी के साथ फिर से शुरू करने के लिए सरकार निर्माण के सभी क्षेत्रों मसलन टेलीविजन सीरियल, फिल्म निर्माण, सह-निर्माण, एनिमेशन और गेमिंग को प्रोत्साहित करेगी. हम जल्द ही उन उपायों की घोषणा करेंगे.

जावड़ेकर ने कहा कि 80 से अधिक विदेशी फिल्म निर्माता फिल्म सुविधा कार्यालय का लाभ उठा चुके हैं. भारत में अपनी फिल्मों की शूटिंग के लिए उन्होंने एकल खिड़की सुविधा का लाभ उठाया.

जावड़ेकर ने कहा कि ‘‘फिक्की फ्रेम्स 2020’’ में होने वाली चर्चाओं से निश्चित तौर पर नए और नवप्रर्वतक विचार सामने आएंगे जिनपर आगे काम किया जा सकता है.

केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री ने कहा कि वर्चुअल (आभासी) उद्घाटन को ही अब नई सामान्‍य स्थिति माना जाना चाहिए और ये वर्चुअल स्थान ही वास्तविक साझेदारियां करने के लिए नए स्थान हैं.