भावनगर| भारतीय सेना के प्रति हर इंसान के दिल में आदर और सम्मान होता है. सेना के जवान अपनी जान की परवाह किए बिना दिन रात सीमा पर तैनात रहते हैं. दुश्मन देशों की नापाक मंसूबों पर पानी फेर हमे सुरक्षा देते हैं. उन्ही सेना के जवानों के लिए जब मौका मिलता है तो हर हिन्दुस्तानी कुछ न कुछ कर गुजरने की चाह रखता है. वैसे सेना की मदद के लिए भारतीय अभिनेता, व्यपारियों को आपने करोड़ो रुपए दान करते हुए सुना होगा. लेकिन 84 साल के बुजुर्ग ने सेना के लिए जो किया उसे जानकर हर भारतीय उन्हें सलाम करेगा.

गुजरात के भावनगर में 84 वर्षीय जनार्दन भट्ट रहतें हैं. SBI बैंक में क्लर्क के पद पर जनार्दन काम करते थे. अब वो रियार्ड हो गए हैं. जब जनार्दन ने देखा कि सीमा पर आतंकियों से लोहा लेते हुए सेना के जवान शहीद हो रहे हैं. उसी वक्त उन्होंने एक बड़ा निर्णय लिया और अपने जीवनभर की कमाई एक करोड़ रुपए को उन्होंने नैशनल डिफेंस फंड में डोनेट कर दिया. जनार्दन भट्ट ने अपने पैसों को कई जगह निवेश किया था और उन्हें उसका अच्छा फायदा हुआ था.

जनार्दन भट्ट ने जो किया उसे देख हर कोई उनकी तारीफ कर रहा है. ऐसा नही कि जनार्दन भट्ट ने पहली बार इस तरह का सराहनीय काम किया हो. इससे पहले भी उन्होंने अपने कार्यकाल दौरान अपने मित्रों की मदद करते थे. वैसे सेना के जवानों के परिवार के लिए भी कई लोग ऐसे जिन्होंने मोटी रकम दान कर के अपने सच्चे भारतीय होने का फर्ज निभा चुके हैं.