अहमदाबाद: बीजेपी की मुश्किलें आए दिन उसके नेता विवादास्पद बयानों से बढ़ा रहे हैं. ताजा मामला गुजरात से सामने आया है. राज्य में सत्तारूढ़ बीजेपी के वरिष्ठ नेता और विधानसभा अध्यक्ष राजेन्द्र त्रिवेदी ने डॉ. अंबेडकर को ब्राम्हण तो बताया ही साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी ब्राम्हण करार दिया है. Also Read - गुजरात विधानसभा अध्यक्ष की कुर्सी पर बैठा नजर आया शख्स, सेल्फी भी खींची

बीती 28 अप्रैल को विधानसभा अध्यक्ष राजेन्द्र त्रिवेदी ने कहा, ” मुझे ये कहने में कोई हिचकिचाहट नहीं है कि अंबेडर एक ब्राम्हण हैं. उनका सरनेम, अंबेडकर, एक ब्राम्हण सरनेम है, जिसे उनके एक ब्राम्हण टीचर ने दिया था. एक ज्ञानी व्यक्ति को ब्राम्हण कहने में कोई गलती है. इस संदर्भ में मैं मोदी जी को भी एक ब्राम्हण कहूंगा.”

विधानसभा अध्यक्ष त्रिवेदी ने ये बयान गांधीनगर में शनिवार को आयोजित ‘ विशाल ब्राम्हण बिजनेस सम्मेलन’ में कही थी. उन्होंने कहा कि भगवान कृष्ण पिछड़ा वर्ग से थे, जिन्हें ऋषि सांदीपनि ने भगवान बना दिया. त्रिवेदी ने कहा कि ज्ञानी ब्राम्हण समाज कभी भी सत्ता का भूख नहीं रहा और राजाओं की सफलता में जैसे चंद्रगुप्त मौर्य और भगवानों में जैसे भगवान राम और भगवान कृष्ण के लिए यंत्र बना रहा.

त्रिवेदी ने कहा, ब्राम्हण भगवान बनाता है और मैं हमेशा कहता आया हूं कि भगवान राम एक क्षत्रिय, लेकि ये मुनि और ऋषि ही थे, जिन्होंने उन्हें भगवान बनाया. ये बात उन्होंने समस्त गुजराती ब्राम्हण समाज के आयोजित बिजनेस समिट और जॉब फेयर के दौरान महात्मा मंदिर में कही थी. (इनपुट- एजेंसी)