गुजरात ATS ने बुधवार को फारूख भाना को गिरफ्तार कर लिया। गोधरा कांड की साजिश रचने और ट्रेन जलाने का मुख्य आरोपी भाना साल 2002 से ही फरार चल रहा था। गौरतलब हो की 27 फरवरी 2002 को गोधरा में हुई इस वारदात में 59 लोग मारे गए थे। गोधरा में ट्रेन जलाने की घटना के मुख्य आरोपी फारुख बाना पिछले 14 साल पहले फरार था। लेकिन जब ATS को इस बात की जानकरी मिली तो उन्होंने ट्रैप बिछाकर उसे गिरफ्तार कर लिया।

गोधराकांड के बड़ा से ही पुरे गुजरात में दंगे भड़क गए थे। चारो तरफ आगजनी और नरसंहार का ऐसा खेल खेला गया की कई घर उजड़ गए। वहीं सूत्रों की माने तो, फारुक को पंचमहल जिले के कलोल टोल प्लाजा से गिरफ्तार किया गया है। गोधरा इसी जिले के अंतर्गत आता है। 2011 में स्‍पेशल कोर्ट ने इस मामले में 31 लोगों को दोषी करार दिया, जबकि 63 को बरी कर दिया गया। 11 को मौत की सजा हुई, जबकि 20 लोगों को उम्रकैद हुई। यह भी पढ़ें : दादरी: अखलाक ने आखिरी बार हिंदू दोस्त को फोन करके कहा था, हम खतरे में हैं पुलिस फोर्स बुलवा दो 

फिलहाल इस मामले पर अब तक ATS की तरफ से कोई अधिकारी ने कुछ नही कहा है लेकिन उम्मीद है की एक प्रेस कांफ्रेंस के माध्यम से वो मीडिया को बात कर सकतें हैं। सूत्रों की माने तो फारुख ने ट्रेन को जलाने से पहले एक मीटिंग लिया था और उसके बाद तकरीबन 140 लीटर पेट्रोल खरीदा गया था। गोधराकांड को 27 फरवरी 2002 को गोधरा स्टेशन पर अंजाम दिया गया था और उसमें 59 लोग मारे गए थे।