अहमदाबाद: (Gujarat Bus Accident) उत्तरी गुजरात के बनासकांठा जिले में करीब 70 यात्रियों को लेकर जा रही एक निजी लग्जरी बस के पलटने से कम से कम 21 लोगों की मौत हो गई और 50 अन्य घायल हो गए. बनासकांठा जिले (Banaskantha) के अम्बाजी शहर में अम्बाजी-दांता मार्ग के पहाड़ी रास्ते में त्रिशुलिया घाट में यह भयानक दुर्घटना हुई. बस में यात्रा कर रहे लोग एक मंदिर से दर्शन करके आ रहे थे. घटना का पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने दुःख जताया है. उन्होंने कहा कि प्रशासन द्वारा बचाव और मदद कार्य जारी है. उन्हें इस हादसे का दुःख है.Also Read - Assam-Mizoram Border Dispute: पीएम नरेंद्र मोदी आज असम के सांसदों से करेंगे मुलाकात, शांति स्थापित करने का है प्रयास

बनासकांठा जिले (Banaskantha) के एसपी अजीत रजीयन ने बताया कि निजी बस में करीब 70 यात्री सवार थे. क्षेत्र में भारी बारिश (Heavy Rain) की वजह से बस चालक नियंत्रण खो बैठा. उन्होंने बताया, ‘‘ त्रिशुलिया घाट में एक निजी वाहन के पलटने से 21 लोगों की मौत हो गई.’’ Also Read - PM Modi की आलोचना वाले पोस्टरों को बताया 'अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता', SC पहुंचा तो पड़ी फटकार

Also Read - अन्य जंगली जानवरों के बदले अपने 40 एशियाई शेर देगा गुजरात का सक्करबाग चिड़ियाघर, जानिए क्यों

अधिकारी ने बताया कि भारी बारिश की वजह से बस के टायर फिसल गए और चालक ने जब ब्रेक का इस्तेमाल किया तो वह अपना नियंत्रण वाहन से खो बैठा. एक क्रेन की मदद से बस से 53 लोगों को जीवित निकाला गया है. उन्होंने बताया कि घायल यात्रियों को दांता शहर के रेफरल अस्पताल और पालनपुर सिविल अस्पताल में भेजा गया है. रजीयन जिला कलेक्टर संदीर सगाले के साथ दुर्घटना के बाद दांता अस्पताल गए. सगाले के मुताबकि घायल 53 लोगों में से 35 की हालत नाजुक है और उन्हें पालनपुर के सिविल अस्पताल में इलाज के लिए भेजा गया है. उन्होंने बताया, ‘‘ हमने दोनों ही अस्पतालों में घायलों के इलाज और पोस्टमार्टम के लिए अधिक डॉक्टर ड्यूटी पर लगाए हैं.’’

सगाले ने बताया, ‘‘ सभी यात्री आनंद तालुका के अंकलव गांव के रहने वाले हैं और अम्बाजी मंदिर (Ambaji Temple) में दर्शन करके लौट रहे थे.’’ सगाले ने बताया कि जून में भी यहां एक दुर्घटना हुई थी, जिसमें नौ लोगों की मौत हो गई थी. उन्होंने बताया कि राज्य सरकार की योजना यहां चार लेन वाली सड़क बनाने की है.